ADVERTISEMENT

अद्भुत औषधि : Adbhut Aushadhi

Adbhut Aushadhi
ADVERTISEMENT

क्षमा के बिना अध्यात्मज्योत हम जला नहीं सकते है । क्षमा के बिना प्रेमामृत हम पिला नहीं सकते है । भगवान महावीर ने कहा है कि क्षमा वीरो का भूषण है ।

क्षमा मांगने से मन में शांति रहती हे। क्षमा करने से बड़प्पन दिखता ह़ै। क्षमा लेना व देना नफरत और क्रोध का निदान है क्षमा के बिना अहिंसा पथ हम अपना नहीं सकते हैं ।

ADVERTISEMENT

इस तरह से सरल हृदय से क्षमा ऐसी रामबाण औषधि जो न किसी दवाखानें में मिलती है और न ही है इसकी कोई घर में बनाने की विधि है । बस यह सरल हृदय की उत्पत्ति है जिसका अन्तिम छोर संसार सागर से मुक्ति है ।

ADVERTISEMENT

प्रदीप छाजेड़
( बोरावड़)

यह भी पढ़ें :-

देखा है मैंने : Dekha hai Maine

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *