आइए जानते हैं भरत सिंह के बारे में, जिन्हें पौधों के संरक्षण के लिए किया गया है सम्मानित

आइए जानते हैं भरत सिंह के बारे में, जिन्हें पौधों के संरक्षण के लिए किया गया है सम्मानित

आज हम आपको भरत सिंह के बारे में बताने वाले हैं, जानकारी के लिए आप सभी को बता दें कि भरत सिंह को पौधे संरक्षण के क्षेत्र में विशिष्ट सम्मान से नवाजा गया है। जानकारी के लिए आप सभी को बता दे कि भरत सिंह ने कृषि मंत्रालय के अंतर्गत केन्द्रीय एकीकृत कीट प्रबंधन केंद्र,…

आइए जानते हैं एक ऐसे शख्स के बारे में जिसने 2013 से अभी तक 17 राज्यों के कई हजारों लोगों को मुफ्त में बांटे हैं देसी बीज

आइए जानते हैं एक ऐसे शख्स के बारे में जिसने 2013 से अभी तक 17 राज्यों के कई हजारों लोगों को मुफ्त में बांटे हैं देसी बीज

आज हम बात करने वाले हैं केदार सैनी के बारे में , जानकारी के लिए आप सभी को बता दें कि केदार ने लोगों की थाली में एक बार फिर से देसी सब्जियों और फलों का स्वाद लौटाने के लिए सैकड़ों देशी बीजों को इकट्ठा किया है । खबरों से पता चला है कि केदार…

आइए जानते हैं एक ऐसे शख्स के बारे में जिसने रिटायरमेंट के बाद तैयार किए हैं पांच आदर्श गांव, इनके खेतों में नमक को छोड़कर सब कुछ उगता है

आइए जानते हैं एक ऐसे शख्स के बारे में जिसने रिटायरमेंट के बाद तैयार किए हैं पांच आदर्श गांव, इनके खेतों में नमक को छोड़कर सब कुछ उगता है

अक्सर रिटायरमेंट के बाद सभी लोग आराम भरी जिंदगी बिताना पसंद करते हैं परंतु आज हम आपको एक ऐसे शख्स के बारे में बताने वाले हैं जिसने रिटायरमेंट के बाद आराम नहीं बल्कि लगातार काम किया है , हम बात कर रहे हैं आयकर विभाग से रिटायरमेंट होने आर के पालीवाल की। जानकारी के लिए…

आइए जानते हैं एक ऐसी महिला के बारे में जिसने खेती के लिए छोड़ी अपनी पीएचडी की पढ़ाई , अब कम आ रही है लाखों का मुनाफा

आइए जानते हैं एक ऐसी महिला के बारे में जिसने खेती के लिए छोड़ी अपनी पीएचडी की पढ़ाई , अब कम आ रही है लाखों का मुनाफा

आज यह महिला किसान वैज्ञानिक खेती करके काफी अधिक मुनाफा तो कमा ही रही है साथ ही साथ कई महिलाओं के लिए प्रेरणा स्रोत के रूप में उभर कर सामने आ रही है । जैसे की हम सभी जानते हैं कि आजकल सभी युवा खेती को मुनाफे का सौदा समझ रहे हैं अर्थात नौकरी छोड़कर…

आइए जानते हैं मेरठ की एक लड़की के बारे में जिसने अपनी इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी करने के बाद शुरू किया है केंचुआ खाद बनाने का बिजनेस
|

आइए जानते हैं मेरठ की एक लड़की के बारे में जिसने अपनी इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी करने के बाद शुरू किया है केंचुआ खाद बनाने का बिजनेस

कौन कहता है कि बेटियां बेटों से कम होती है यह पुराने जमाने की कहावत है परंतु आज के जमाने में देश की बेटियां बेटों से आगे बढ़कर कार्य कर रहे हैं अर्थात हर क्षेत्र में बेटियां अपना अव्वल स्थान हासिल कर रहे हैं । आज हम आपको एक ऐसी बेटी के बारे में बताने…

आइए जानते हैं एक ऐसे किसान के बारे में जो 70 वर्ष की उम्र में करते हैं 12 घंटे काम और साल भर में बेच लेते हैं 7000 बैग ऑर्गेनिक खाद

आइए जानते हैं एक ऐसे किसान के बारे में जो 70 वर्ष की उम्र में करते हैं 12 घंटे काम और साल भर में बेच लेते हैं 7000 बैग ऑर्गेनिक खाद

आज हम बात करने वाले हैं 70 वर्षीय किसान किरण नायक के बारे में , जानकारी के लिए आप सभी को बता दें कि किरण नायक मूल रूप से नवसारी गुजरात के सरीखुर्द गांव में रहनेवाले है , किरण नायक 15 साल की उम्र से खेती करते आ रहे हैं । इसके बावजूद जानकारी के…

इंटरशिप में समझ आया कि जॉब नहीं है मेरे लिए, उसके बाद एवोकाडो की नर्सरी की ट्रेनिंग लेने के बाद आज मिल रहे हैं कई राज्यों से आर्डर

इंटरशिप में समझ आया कि जॉब नहीं है मेरे लिए, उसके बाद एवोकाडो की नर्सरी की ट्रेनिंग लेने के बाद आज मिल रहे हैं कई राज्यों से आर्डर

सही समय पर खुद की पसंद के कार्य को जान लेना ही काफी बेहतर है , कुछ इस प्रकार की घटना ही भोपाल के रहने वाले हर्षित गोधा के साथ हुई है। जानकारी के लिए आप सभी को बता दें कि हर्षित अपनी बीबीए की पढ़ाई करने के लिए यूके (यूनाइटेड किंग्डम) गए थे परंतु…

आइए जानते हैं काली मिर्ची की जादुई खेती करने वाले सफल किसान के बारे में, जीता है पद्मश्री पुरस्कार

आइए जानते हैं काली मिर्ची की जादुई खेती करने वाले सफल किसान के बारे में, जीता है पद्मश्री पुरस्कार

आज हम बात करने वाले हैं नानाद्रो बी मारक के बारे में, जानकारी के लिए आप सभी को यह बता दें कि नानाद्रो बी मारक मूल रूप से मेघालय के रहने वाले हैं। दरअसल नानाद्रो बी मारक ने आज यह साबित कर दिया है कि खेती भी मुनाफे का सौदा बन सकती है अर्थात इन्होंने…

नौकरी छोड़कर गांव के ये दो दोस्त मशरूम के खेती से कमा रहे लाखों

नौकरी छोड़कर गांव के ये दो दोस्त मशरूम के खेती से कमा रहे लाखों

आइए जानते हैं टिहरी गढ़वाल के एक छोटे से गांव भैंसकोटी के रहने वाले कुलदीप बिष्ट और उनके मित्र प्रदीप जुयाल से , जानकारी के लिए आप सभी को बता दें कि कुलदीप बिष्ट और प्रदीप जुयाल अपनी पढ़ाई और काम के लिए शहर चले गए थे परंतु आज दोनों अपने गांव वापस लौट कर…