ADVERTISEMENT
Bihar 2 sisters Priya and Puja Sao success story in Hindi

बिहार के आलू बेचने वाले पिता की दो बेटियों ने एक साथ बिहार पुलिस अवर सेवा आयोग में सफलता हासिल की है , खुशी से पिता बांट रहे हैं लड्डू

ADVERTISEMENT

जैसे की हम सभी जानते हैं कि प्राचीन काल से ही लड़कियों को शिक्षा और विकास के मामले में हमेशा पीछे रखा गया प्राचीन काल में कभी भी बेटियों को पढ़ना और काम करने की इजाजत नहीं थी ।

परंतु अगर हम वर्तमान स्थितियों की बात करें तो प्राचीन काल की तुलना में आज लोगों की सोच बदल गई है और वह बेटियों को पढ़ाते भी हैं और उन्हें आगे बढ़ने के लिए अग्रसर भी करते हैं। कुछ इसी प्रकार की है हमारी आज की कहानी।

ADVERTISEMENT

हम तो ऐसी बेटियों के बारे में बात करने वाले हैं जिन्होंने वर्तमान की स्थितियों को देखते हुए लड़कों से कंधे से कंधा मिलाने का कार्य किया है और सदैव खुद को अग्रसर करने का प्रयत्न भी करती हैं ।

हम बात कर रहे हैं पकरीबरावां की दो सगी बहनों पूजा कुमारी और प्रिया कुमारी के बारे में , जानकारी के लिए आप सभी को बता दें कि दोनों बहनों के पिता आलू बेचने का कार्य करते हैं , पिता के आलू बेचने के बावजूद बेटियों ने पढ़ाई में अव्वल स्थान हासिल किया है और बिहार की पुलिस अवर सेवा आयोग में सफलता हासिल कर के ना केवल अपने माता-पिता का बल्कि जिले का भी नाम रोशन किया है ।

पिता मदन साव की बेटियों ने दिन-रात कड़ी मेहनत और लगन से कड़ी तपस्या की और आज उन्हें उनकी तपस्या का फल भी मिला, आज पिता अपनी बेटियों की कड़ी सफलता से काफी अधिक खुश है और लोगों को लड्डू बांट रहा है।

परीक्षा में सफलता के लिए मामा ने किया पूरा सहयोग

दोनों बहने पूजा कुमारी और प्रिया कुमारी ने गरीबी को काफी नजदीकी से देखा इसलिए उन्होंने सदैव घर पर ही रहकर परीक्षा की पूरी तैयारी की है अर्थात कड़ी मेहनत और लगन के साथ इस परीक्षा में सफलता भी हासिल की है ।

दोनों बहनों ने परीक्षा के कुछ समय पहले से ननिहाल नवादा में रहकर परीक्षा की तैयारी की थी , दोनों बहनों ने बातचीत के दौरान अपनी सफलता के पीछे अपने मामा टिंकू साहू को भी महत्वपूर्ण स्थान देते हुए कहा कि बिहार के पुलिस अवर सेवा आयोग मैं जाने के लिए सदैव ही उनके मामा ने उन्हें प्रेरित किया है।

जानकारी के लिए आप सभी को बता दें कि बड़ी बहन प्रिया कुमारी ने वर्ष 2013 में प्रोजेक्ट कन्या के तहत मध्य विद्यालय पकरीबरावां से मैट्रिक की परीक्षा में 77 प्रतिशत नंबर हासिल किए थे , अर्थात वर्ष 2014 में छोटी बहन पूजा कुमारी ने हाई स्कूल पकरीबरावां से मैट्रिक की परीक्षा दी और सिर्फ 66% नंबर हासिल किए थे, इसके बाद दोनों बहनों ने कृषक कॉलेज धेवधा , से अपनी कॉलेज और इंटरमीडिएट की पढ़ाई पूरी की थी।

जानकारी के लिए आप सभी को बता दें कि छोटी बहन पूजा कुमारी ने बिहार पुलिस अवर सेवा आयोग की परीक्षा में पहले प्रयास में ही सफलता हासिल कर ली थी अर्थात बड़ी बहन प्रिया कुमारी ने दूसरे प्रयास में सफलता हासिल की है ।

पिता को बधाई देने पहुंच रहे हैं लोग

दोनों बेटियों की बिहार पुलिस अवर सेवा आयोग के रिजल्ट आने के बाद सफलता मिलने के पश्चात सगे संबंधियों और मित्रों ने पिता को दोनों बेटियों की सफलता की बधाई देनी शुरू कर दी , अब दोनों बेटियों के पिता का नाम सड़क पर आलू बेचने वाले से नहीं बल्कि तो बेटियों के दरोगा के पिता से लिया जाता है , घर आते बधाई देने पिता अपनी बेटी की खुशी में लोगों का मुंह मीठा कराते नजर आते हैं ।

आज दोनों बेटियों ने देश की बेटियों के लिए मिसाल कायम की है अर्थात बिहार पुलिस आवर सेवा आयोग की परीक्षा में सफलता हासिल कर ली है, दोनों बेटियों ने अपनी कड़ी मेहनत और लगन के बल पर सफलता हासिल करने के बाद ना केवल अपने परिवार का बल्कि जिले का भी नाम रोशन किया है और देश की कई बेटियों को के लिए प्रेरणा स्रोत के रूप में बनकर सामने आई हैं ।

 

यह भी पढ़ें :

आइए जानते हैं किस प्रकार किसान का बेटा बना टॉपर, हासिल किया है दसवां स्थान

Similar Posts

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *