आइए जानते हैं किस प्रकार उत्तराखंड के दो युवकों ने भूतिया गांव को किया आबाद, खेती करके बदल दिया है गांव का नक्शा

आइए जानते हैं किस प्रकार उत्तराखंड के दो युवकों ने भूतिया गांव को किया आबाद, खेती करके बदल दिया है गांव का नक्शा

जानकारी के लिए आप सभी को बता दें कि उत्तराखंड के पिथौरागढ़ मैं भूतिया गांव की कहानी काफी अधिक चर्चाओं में है , कई प्रकार के अंधविश्वास और अफवाह के कारण ही यहां बसने वाले लोग यहां से पलायन कर रहे हैं । उत्तराखंड के पिथौरागढ़ जिले के मटियाला गांव को वहां के लोगों ने…

आइए जानते हैं एक ऐसे किसान के बेटे के बारे में जो गाय के गोबर से सीमेंट ईट और पेंट तैयार करके सालाना 50 से 60 लाख रुपए की कमाई कर रहा है

आइए जानते हैं एक ऐसे किसान के बेटे के बारे में जो गाय के गोबर से सीमेंट ईट और पेंट तैयार करके सालाना 50 से 60 लाख रुपए की कमाई कर रहा है

गर्मियों का मौसम चल रहा है और शहरों में तो बड़ी बड़ी इमारतें ही देखने को मिलती है जो कि कंक्रीट से बने सीमेंट, ईंट, ​पत्थर से तैयार की जाती है और इनमें गर्मी भी काफी अधिक लगती है, अगर हमारा घर  गोबर से तैयार सीमेंट और पेंट से तैयार किया जाए तो यह कैसा…

यूपीएससी अध्यक्ष डा. मनोज सोनी की संघर्ष भरी सफलता की कहानी , पांचवी कक्षा में अगरबत्ती बेचकर पाला अपने परिवार को ,12 वीं हो गए थे फेल

यूपीएससी अध्यक्ष डा. मनोज सोनी की संघर्ष भरी सफलता की कहानी , पांचवी कक्षा में अगरबत्ती बेचकर पाला अपने परिवार को ,12 वीं हो गए थे फेल

जानकारी के लिए आप सभी को बता दें कि डा. मनोज सोनी की यूपीएससी चेयरमैन बनने से पहले की जिंदगी काफी संघर्ष भरी थी , डा. मनोज सोनी ने बचपन से ही हर परिस्थितियों को पार करने के लिए काफी संघर्ष किया है मनोज एक गरीब परिवार से थे अन्यथा उनके पिता भी सड़क के …

बचपन में माता-पिता का हो गया था डिवोर्स, डिलीवरी ब्वॉय का किया काम और आज आर्ट स्टूडियो चला कर कमा रहे हैं नाम और दाम

बचपन में माता-पिता का हो गया था डिवोर्स, डिलीवरी ब्वॉय का किया काम और आज आर्ट स्टूडियो चला कर कमा रहे हैं नाम और दाम

आज हम बात करने वाले हैं भोपाल के यश सिंह के बारे में, जानकारी के लिए आप सभी को बता दें कि यश सिंह लगभग 3 सालों से एक आर्ट स्टूडियो को चला रहे हैं वह अपने स्टूडियो में पेंटिंग, स्केचिंग और पोर्ट्रेट बनाते हैं । यश सिंह बताते हैं कि वह करोना महामारी से…

आइए जानते किस प्रकार पटना की गलियों में कंचे खेलने वाला व्यक्ति , बन गया है बहुत बड़े कारोबार का मालिक

आइए जानते किस प्रकार पटना की गलियों में कंचे खेलने वाला व्यक्ति , बन गया है बहुत बड़े कारोबार का मालिक

हम लोग ऐसे सोचते हैं कि जो लोग बड़े उद्योगपति होते हैं उन्हें भगवान किसी खास मिट्टी से बना कर भेजते हैं, परंतु जब हम उनकी पिछली जिंदगी और उनकी सफलता के बारे में जाने की कोशिश करते हैं तो हमें इस बात का पता चलता है उनकी पिछली जिंदगी किस प्रकार संघर्ष और हमारी…

आइए जानते हैं किस प्रकार एक आर्किटेक्ट ने मिट्टी की छत की टाइलों का अनोखा उपयोग करके फर्नीचर तैयार किया, जो गर्मी में रहता है ठंडा

आइए जानते हैं किस प्रकार एक आर्किटेक्ट ने मिट्टी की छत की टाइलों का अनोखा उपयोग करके फर्नीचर तैयार किया, जो गर्मी में रहता है ठंडा

आज हम बात करने वाले हैं मनोज पटेल के बारे में, मनोज पटेल एक अहमदाबाद के वास्तुकार हैं , हाल ही में वास्तुकर मनोज द्वारा मिट्टी की टाइल्स से तैयार किया गया अद्भुत फर्नीचर बहुत लोकप्रिय बन रहा है, इस दौरान मनोज पटेल प्रसिद्ध “मंगलौर टाइल्स” को एक नया जीवन दिया है । इस बात…

जुगाड़ से बिजली बना कर गांव का 12वीं पास शख्स, बन गया है गांव के लिए “पावर मैन”

जुगाड़ से बिजली बना कर गांव का 12वीं पास शख्स, बन गया है गांव के लिए “पावर मैन”

आज हम बात करने वाले हैं  झारखंड के रामगढ़ के वियंग गांव के रहने वाले केदार प्रसाद महतो के बारे में , जानकारी के लिए आप सभी को बता दें कि केदार प्रसाद महतो मात्र 12 वीं पास है परंतु फिर भी अपने दिमाग और अपनी 8 सालों की मेहनत से गांव के लिए बिजली…

पिता नहीं रहे तो परिवार की दयनीय स्थितियों को संभालने के लिए दोनों भाइयों ने रेस्टोरेंट्स चलाकर लोगों का दिल जीत लिया

पिता नहीं रहे तो परिवार की दयनीय स्थितियों को संभालने के लिए दोनों भाइयों ने रेस्टोरेंट्स चलाकर लोगों का दिल जीत लिया

कई बार ऐसा होता है कि हमें अपनी जिंदगी में समय से पहले ही परिस्थितियों के कारण जिम्मेदारियों के बोझ को अपने सर पर उठाना होता है। हमारे जीवन में पिता का महत्व काफी होता है ऐसा कहा जाता है कि पिता के होने से ही बच्चों के सपने जिंदा रहते हैं, ऐसे में यह…

आइए जानते हैं एक ऐसे शख्स की कहानी, जो नेत्रहीन होने के बावजूद बखूबी चलाते हैं मसाले का बिजनेस, औरों को भी दे रहे हैं रोजगार

आइए जानते हैं एक ऐसे शख्स की कहानी, जो नेत्रहीन होने के बावजूद बखूबी चलाते हैं मसाले का बिजनेस, औरों को भी दे रहे हैं रोजगार

आज हम बात करने वाले हैं बनारस के रहने वाले सत्यप्रकाश मालवीय के बारे में, इन्होंने बचपन में ही अपने आंख की रोशनी खो दी थी, परंतु अपनी जज्बे के कारण आज अपने आप सहित 10 महिलाओं और दिव्यांगजनों को रोजगार प्राप्त करने में सक्षम है। सत्यप्रकाश मालवीय 25 वर्ष के हैं, और बचपन से…