आइए जानते हैं गुजरात कि 62 वर्ष की सफल महिला किसान के बारे में, दूध बेचकर सालाना 1 करोड़ों का टर्नओवर हो रहा है

Dairy farmer Navalben Chaudhary ki kahani

जैसे की हम सभी जानते हैं कि आज के दौर में महिलाएं पुरुषों को हर क्षेत्र में पीछे छोड़ रही हैं और उनके साथ कदम से कदम मिलाकर आगे बढ़ रही हैं, वर्तमान में महिलाएं पुरानी सोच को पीछे छोड़कर आज कामयाबी हासिल करने की ओर अपना कदम आगे बढ़ा रही हैं ।

एक ऐसा ही सही उदाहरण लेकर हमारे सामने आए हैं 62 वर्षीय बुजुर्ग महिला किसान नवलबेन चौधरी । जानकारी के लिए आप सभी को बता दें कि 62 वर्षीय महिला के सामने गुजरात के बनासकांठा की रहने वाली है ।

गुजरात की यह 62 वर्षीय बुजुर्ग महिला किसान वर्तमान में पशु पालन का व्यवसाय करके करोड़ों का मुनाफा अर्जित कर रही है आइए जानते हैं इस महिला किसान की सफलता की कहानी –

सफल महिला किसान का परिचय

नवलबेन जो कि गुजरात के बनासकांठा जिले के नगाणा गांव की रहने वाली वह आम महिलाओं की तरह ही है, नवलबेन इतनी अधिक पढ़ी-लिखी भी नहीं है परंतु उनमें पैसे कमाने की चाहत औरों से भी कई अधिक है।

यही कारण था कि इस महिला ने कुछ करने का प्रयास किया था  जिससे कि वह अधिक पैसा कमा कर अपने पैरों पर खड़ी हो पाए इस बुजुर्ग महिला की सोच की दाद देनी पड़ेगी और इस दौरान ही उन्होंने पशु पालन का व्यवसाय शुरू करने का निश्चय किया।

इस प्रकार शुरू किया पशुपालन व्यवसाय

बातचीत के दौरान सफल किसान महिला नवलबेन चौधरी बताती है कि उन्होंने जिस वक्त पशु पालन का व्यवसाय करना शुरू किया इस दौरान उन्होंने शुरुआत में 8 से 10 पशुओं के साथ इसकी शुरुआत की थी, धीरे-धीरे महिला की लगन और मेहनत के बल पर यह व्यवसाय चल पड़ा और मुनाफा भी काफी अधिक आने लगा, जिसके बाद सफल किसान महिला नवलबेन ने अपने पशु पालन के व्यवसाय को और अधिक बढ़ा दिया ।

आज नवलबेन चौधरी का पशुपालन व्यवसाय इतना अधिक फैल गया है कि यह  अपने पशुओं द्वारा उत्पादित दूध को एशिया के सबसे बड़े “बनसा डेयरी”मैं बेच रही है और एशिया के सबसे बड़े बनसा डेयरी मैं अपने दूध को बेचकर नवलबेन चौधरी सालाना 1 करोड़ की अच्छी कमाई कर ले रही है।

वर्तमान में यह महिला सभी महिलाओं के लिए एक अच्छा उदाहरण बन कर सामने आई है जो पुरानी सोच को लेकर चल रही है और आगे बढ़ने का प्रयास नहीं करती हैं परंतु आज गुजरात की 62 वर्षीय बुजुर्ग सफल महिला किसान नवलबेन चौधरी आगे बढ़कर इतना अधिक मुनाफा कमाकर सभी महिलाओं के लिए प्रेरणा स्रोत बन कर सामने आ रही हैं ।

सफल महिला किसान नवलबेन चौधरी का कहना है कि  उन्होंने अपने इस कार्य को करीब 1 वर्षों पहले ही शुरू किया है और अब तक वे काफी अधिक मुनाफा कमा चुकी है इतना ही नहीं उनका कहना है कि वह हर रोज 1000 लीटर दूध का बनसा डेयरी में बेचती है। इस महिला ने अपने इस व्यवसाय की शुरुआत 8 से 10 पशुओं से की थी परंतु आज उनकी मेहनत और लगन के कारण आज यह 250 पशुओं की मालकिन है।

पशुओं की करती है अच्छी देखभाल

जानकारी के लिए आप सभी को बता दें कि यह सफल महिला किसान अपने पशुओं का देखभाल काफी अच्छी तरह से रखती है और इनका चारा भी स्वयं तैयार करती है साथ ही साथ पशुओं के लिए अच्छी और साफ जगह का निर्धारण भी यह स्वयं करती हैं ।

62 वर्षीय बुजुर्ग महिला किसान का कहना है कि खुद के पैरों पर खड़ा होने की ललक ने आज उन्हें इतना सफल बना दिया है अर्थात वह कहती है की सभी महिलाओं को आत्मनिर्भर बनना चाहिए , और पुरुषों से कदम से कदम मिलाकर चलना चाहिए ।

 

लेखिका : अमरजीत कौर

यह भी पढ़ें :

आइए जानते हैं गोबर के उपले बनाने वाली महिला की सफलता की कहानी, राजश्री शर्मा आज 38 करोड़ की टर्नओवर वाली कंपनी की डायरेक्टर है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *