ADVERTISEMENT
IAS Isha Duhan ki safalta ki kahani

आठवीं क्लास में ही देख लिया था आईएएस बनने का सपना, इस प्रकार हासिल की सफलता

ADVERTISEMENT

इस बात से हम सभी अवगत हैं कि यूपीएससी की परीक्षा में सफलता हासिल करना इतना आसान नहीं है , क्योंकि यूपीएससी परीक्षा को देश के सबसे कठिन परीक्षा माना जाता है और भारत देश में संघ लोक सेवा द्वारा इस परीक्षा को आयोजित किया जाता है ।

हर साल इस परीक्षा में सफलता हासिल करने का सपना लिए लाखो अभ्यार्थी इस परीक्षा में हिस्सा लेते हैं परंतु कुछ कैंडिडेट्स ही अपनी सफलता के मुकाम को हासिल कर पाते हैं ।

ADVERTISEMENT

परंतु आज हम आपको एक ऐसी अभ्यार्थी के बारे में बताने वाले हैं जिन्होंने अपनी कड़ी मेहनत और सफलता के साथ यूपीएससी में एक नई स्ट्रेटजी के साथ सफलता हासिल की है ।

जानकारी के लिए आप सभी को बता दें कि हम जिस अभ्यार्थी की सफलता की कहानी आज आपको बताने वाले उसने आठवीं कक्षा में ही आईएएस बनने का सपना देख लिया था और आज अपने सफलता के मुकाम को हासिल भी कर लिया है ।

आज हम बात कर रहे हैं आईएएस ईशा दुहन ( Isha Duhan )  की सफलता की कहानी के बारे में , जानकारी के लिए आप सभी को बता दें कि ईशा दुहन उत्तर प्रदेश के कैडर की 2014 के बैच की अधिकारी है।

जानकारी के लिए आप सभी को बता दें कि ईशा दुहन ने 59 वीं रैंक हासिल की है , जानकारी के लिए आप सभी को बता दें कि आईएएस ईशा दुहन बचपन से महज अपनी कक्षा आठवीं से आईएएस बनने का सपना देख रही हैं ।

जानकारी के लिए आप सभी को बता दी थी आईएएस ईशा दुहन ने बायोटेक्नोलॉजी के विषय में अपनी ग्रेजुएशन की पढ़ाई पूरी की है अर्थात ग्रेजुएशन की लास्ट ईयर में ही इन्होंने यूपीएससी क्लियर करने के लिए तैयारी शुरू कर दी थी।

आईएएस ईशा दुहन ने अपनी कॉलेज की पढ़ाई को तो साथ लेकर चला ही साथ ही साथ उन्होंने यूपीएससी की तैयारी के लिए समय निकालने के लिए सुबह 5:30 बजे उठकर यूपीएससी की क्लासेस को अटेंड कर दी उसके बाद वह अपने कॉलेज केंपस चली जाती थी ।

 

ईशा दुहन के जीवन में एक ऐसा मोड़ आया जब उन्हें यह महसूस हुआ कि उन्हें अपने कॉलेज की पढ़ाई पूरी करने के बाद ही यूपीएससी की परीक्षा की तैयारी करनी चाहिए इसके बाद उन्होंने अपना सारा समय अपने कॉलेज की पढ़ाई को दे दिया और उसके बाद कॉलेज पूरा होने के बाद वह दिल्ली चली गई और दिल्ली से सिविल सेवा द्वारा आयोजित यूपीएससी की परीक्षा की तैयारी में जुट गई ।

आईएएस ईशा दुहन का कहना है कि जब वह अपने कॉलेज की पढ़ाई के साथ यूपीएससी परीक्षा की तैयारी कर रही थी तब उन्होंने ऑप्शनल सब्जेक्ट के विषय में भी अपनी तैयारी पूरी कर ली थी ।

जब दिल्ली आई तो उन्होंने अपने अन्य सब्जेक्ट में सफलता हासिल करने के लिए महत्वपूर्ण रूप से तैयारी करनी शुरू की । इस प्रकार ही इन्होंने अपनी मेहनत के बल पर यूपीएससी परीक्षा में ऑल ओवर इंडिया में 15वीं रैंक हासिल की थी ।

ईशा दुहन उम्मीदवारों को सलाह देते हुए कहती हैं कि अगर आप यूपीएससी परीक्षा में सफलता हासिल करना चाहते हैं तो महत्वपूर्ण रूप से आप पिछले साल के पेपर को जरूर देखें क्योंकि इससे आपको महत्वपूर्ण रूप से पेपर पेटर्न समझ आ जाएगा ।

जिससे आपको सफलता हासिल करने में थोड़ी आसानी होगी , साथ ही साथ ईशा दुहन का कहना है कि यूपीएससी की तैयारी करने के लिए आप एक सोर्स को अवश्य सुने मेरे अनुसार एनसीईआरटी की किताबें यूपीएससी की परीक्षा में सफलता हासिल करने के लिए आपके लिए काफी मददगार हो सकती है ।

 

लेखिका : अमरजीत कौर

यह भी पढ़ें :

एक ऐसे आईपीएस की कहानी जिसने 12वीं में फेल होने के बाद चलाया टेंपो , भिखारियों के पास में भी सोया परंतु अपनी मेहनत और लगन से हासिल की यूपीएससी परीक्षा में सफलता और बन गए एक आईपीएस

Similar Posts

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *