हिन्दीफ़ीड्स

हिन्दीफ़ीड्स

300 Pocket Money से 90 लाख टर्नओवर की कंपनी खड़ा करने का सफर

300 Pocket Money से 90 लाख टर्नओवर की कंपनी खड़ा करने का सफर

300 Pocket Money से 90 लाख टर्नओवर की कंपनी खड़ा करने का सफर

आज की युवा पीढ़ी मेहनती है। वह कठिन परिश्रम के साथ साथ ही स्मार्ट तरीके से काम करने में यकीन करती है। यही वजह है कि आज कई सारे स्टार्टअप चल रहे हैं और नए नए आइडिये पर नए-नए स्टार्टअप शुरू हो रहे हैं।

लेकिन सभी में यह हुनर नहीं होता है कि वह बाजार के रंग ढंग को समझ सके। और यही वजह है कि कई सारी स्टार्टअप कुछ ही समय में खत्म हो जाते हैं।

वहीं कुछ लोग ऐसे होते हैं जो अपनी मेहनत और स्मार्टनेस के दम पर एक नया मुकाम हासिल करते हैं। आज की कहानी है NE Taxi के फाउंडर Rewaj Chettri की है। उन्होंने यह बिजनेस अपने कॉलेज के दूसरे साल से शुरू कर दिया था।

परिचय :-

Rewaj Chettri का जन्म 1994 में सिक्किम के गंगटोक में हुआ था। वह अरुणाचल प्रदेश के नार्थ ईस्टर्न रीजनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ साइंस एंड टेक्नोलॉजी से फॉरेस्ट्री में ग्रेजुएशन किए हैं।

उनके पिता एक पोल्ट्री किसान थे और उनकी माता एक ग्रहणी है। वह बताते हैं कि उन्होंने NE टैक्सी  की शुरुआत कॉलेज के दूसरे साल किए थे। तब शुरुआत में उनके सामने कई तरह की चुनौतियां आई।

उन्होंने ₹300 में डोमेन नाम खरीद कर अपना बिजनेस शुरू किया। पहले दिन उन्हें यह समझ में आ गया था कि जिस मुकाम पर वह अपनी कंपनी को देखना चाहते हैं उसके लिए उन्हें उसी तरह की जी तोड़ मेहनत भी करनी पड़ेगी।

ऐसे की कंपनी की शुरुआत :-

उन्होंने इस कंपनी की शुरुआत साल 2013 में की थी। साल 2017 में उन्होंने एप्लीकेशन डिवेलप किया और उसे लांच किया। Rewaj Chettri दृष्टिकोण और जज्बा दोनों ही थे। उन्होंने यात्रा में अनगिनत चुनौतियों का सामना किया था।

इन चुनौतियों से परेशान होकर अपने स्टार्टअप को बनाया। शुरू में  नार्थ ईस्ट के लोगों को एक कार रेंटल कंपनी पर विश्वास नहीं था। वहीं दूसरी तरफ बहुत सारे ट्रैवल एजेंट्स उन्हें भ्रमित करने की भी कोशिश किये।

लेकिन वह अपना निर्णय नहीं बदले। Rewaj Chettri की किस्मत तब बदली जब पिछले साल Geeta Giri को बोर्ड में शामिल कर लिया गया। फिर उसके बाद उनका बिजनेस दिन-ब-दिन सफलता की सीढ़ियां चलता गया।

उनके बिजनेस प्लान के लिए उन्हें एक बार 5 लाख का कैश प्राइज भी मिला। उन्होंने अपना सारा पैसा ऐप डिवेलप करने में इन्वेस्ट कर दिया और फिर पीछे मुड़कर कभी नहीं देखे।

Rewaj Chettri बताते हैं कि वह गंगतोक में पले बडे हैं। वह हमेशा से यही चाहते थे कि सिक्किम के लॉजिस्टिक की समस्या का समाधान कैसे करें? क्योंकि यहां के लोगों को सफर के दौरान कई सारी समस्याओं को झेलना पड़ता था।

जब वे अरुणाचल प्रदेश में पढ़ाई कर रहे अब केवल बस ही एकमात्र आवागमन का साधन था, जो गुआहाटी आती थी। एक दिन उन्हें एक आईडिया मिला।

जिससे उन्होंने अपने क्षेत्र में यातायात के लिए लग्जरी गाड़ियों का प्रयोग करना शुरू किया। यहीं से उनकी यात्रा शुरू हो गई और अभी भी वह इस क्षेत्र में यातायात व्यवस्था को बेहतर करने में लगे हुए हैं।

आज है 5 ब्रांच :-

उन्होंने अपने बिजनेस मॉडल को पहले दिन ही कमीशन के आधार पर किया। रिवाज को केवल ₹300 से इस बिजनेस को शुरू करना था। इस बिजनेस के सारी कमाई वह उसी में लगा दिया करते थे।

आज उनके पास 5 सदस्यों की टीम है और 26 कर्मचारी 5 ब्रांच में काम कर रहे हैं। आज NE Taxi का टर्नओवर सालाना 90 लाख से भी अधिक है। वह अपनी कंपनी की ब्रांच पांच जगह गंगटोक, दार्जिलिंग, तवांग, गुवाहाटी और शिलांग में ओपन किए हैं।

खुद पर किया था यकीन :-

Rewaj Chettri ने जब अपना प्रोजेक्ट शुरू किया था तब अपने लक्ष्य को लेकर आशावादी थे। उन्हें विश्वास था कि वह एक न एक दिन सफल जरूर होंगे। हालांकि उनके रास्ते में कई चुनौतियां थी।

यह सफर इतना आसान नहीं था। उनके पास बिजनेस को छोड़ने के लिए कई कारण भी थे, लेकिन उन्होंने अपने दृष्टिकोण और अपने निर्णय पर हमेशा यकीन किया और आगे बढ़ते रहें। आज वह कामयाबी के शिखर पर पहुंच गए हैं।

यह भी पढ़ें :दो दोस्तों ने मिलकर अपने Unique Idea पर किया काम, अब 100 शहरों में फैल चुका है करोड़ो का कारोबार