हिन्दीफ़ीड्स

हिन्दीफ़ीड्स

पी एन सी मेनन की आम आदमी से करोड़पति बनने की कहानी

पी एन सी मेनन की आम आदमी से करोड़पति बनने की कहानी

P.N.C Menon की आम आदमी से करोड़पति बनने की कहानी

ज्यादातर लोग जब असफल हो जाते हैं किसी काम में तो वो इसका परिस्थितियों को दोष देते हैं या फिर भाग्य को । लेकिन हम आज एक ऐसे शख्स की बात बताएंगे जो अपने जीवन में कई सारी मुश्किल भरी परिस्थितियों से गुजरा और उनका सामना किया और उसके बाद एक successful person के रूप में लोगों के लिए आज मिसाल बन गया है ।

बचपन में न तो परिवार का सहयोग मिला और न ही समाज का, इसके बावजूद उन्होंने formal training लिया और Civil Engineering में महारत हासिल की । उनकी कड़ी मेहनत का नतीजा यह रहा कि आज उनके पास करोड़ो की संपत्ति है ।

लेकिन सुरु में कई बार ऐसा हुआ कि उनके पास किसी भी बिजनेस को स्टार्ट करने के लिए पैसे नहीं थे । ऐसे ही एक बार उनके पास एक बिजनेस को स्टार्ट करने के लिए मात्र 50 रुपये थे लेकिन आज दिग्गज बिजनेसमैन में गिने जाते हैं और उन्हें किसी पहचान की जरूरत नहीं है ।

जी हां … P.N.C menon भारत के दिग्गज कारोबारियों में से एक है । जो जब मात्र 10 साल के थे तभी इनके सर से पिता का साया उठ गया, उसके बाद परिवार की सारी जिम्मेदारी इन पर आ गई । इन्होंने बचपन में कई सारी सामाजिक और आर्थिक मुश्किलों का सामना किया ।

पिता की मौत के बाद घर की economic condition धीरे-धीरे नीचे की तरफ ही जा रही थी । हालात ऐसे भी बने की उनके पास स्कूल की फीस भरने के लिए पैसे बहुत मुश्किल से जुट पाते थे । लेकिन उन्होंने किसी भी तरह करके अपनी स्कूली शिक्षा और उसके बाद बीटेक के लिए त्रिशूर के एक लोकल कॉलेज में एडमिशन लिया ।

लेकिन घर के economic condition सही ना होने की वजह से हुई कॉलेज की फीस नहीं दे सकते थे और अंत में बीच में ही उन्होंने इंजीनियरिंग की पढ़ाई छोड़ दी । उसके बाद पैसे कमाना उनकी जरूरत के साथ-साथ उनकी मजबूरी हो गई ।

उन्होंने घर चलाने के लिए छोटा-मोटा काम करना शुरू किया और इसके लिए बिना किसी प्रशिक्षण के उन्होंने डिजाइनिंग का काम शुरू कर दिया । मेहनत और लगन के दम उन्होंने धीरे धीरे उच्च स्तर का interior designing course और Civil Engineering का काम प्रारम्भ किया ।

लेकिन कोई संतोषजनक कॉन्ट्रैक्ट नहीं मिल पाया, लेकिन सारी बाधाओं और मुश्किलों का सामना करने के लिए उन्होंने उद्योग के बारे में और भी ज्यादा जानना और सीखना जारी रखना । कहावत है कि भाग्य हमेशा बहादुर लोगों का साथ देता है । यही चीज इनके साथ भी है ।

एक दिन उनको किसी ने इंडिया के बाहर यानी कि विदेश में अवसर तलाशने की सलाह दी । लेकिन यह इनके लिए काफी चुनौतियों भरा था । किसी तरह इन्होंने ओमान जाने के लिए टिकट के पैसा इकट्ठा किया और उस समय उनके पास मात्र 50 नगद शेष बचे थे ।

सफलता के रास्ते में कई सारी चुनौतियां आती हैं और ऐसे में सबसे बड़ी चुनौती थी पैसे इकट्ठा करना । लेकिन कहते है कि जिनकी इच्छा असामान्य उपलब्धियों को हासिल करना होता है वे असामान्य चुनौतियों का सामना डंट कर करते है । मेनन ने सारे अनिश्चितता के बीच अपने विश्वास और साहस के दम पर ओमान पहुंच गए ।

ओमान में अलग अनजान संस्कृति, अलग भाषा और विकसित समाज के सामने इनके लिए कई सारी मानसिक चुनौतियां आ खड़ी हुई । ओमान का तापमान और वहां का खान-पान का असर इनके शारीरिक क्षमता पर पड़ने लगा । लेकिन अपनी इस कमजोरी को मात देकर असामान्य रूप से काम पूरा करके पेश करने की कोशिश करने लगे, लोगों को उनका यह काम करने का तरीका काफी पसंद आया और उन्हें उनके कई सारे बिजनेस कांटेक्ट बन गए ।

मेनन ने बैंक से लोन लिया और लोन के पैसे का सदुपयोग करने के लिए उन्होंने सड़क के किनारे एक बेहद छोटे स्तर पर इंटीरियर्स की दुकान खोली । मेनन अपने काम में दक्ष थे नतीजा हुआ कि उनके काम की क्वालिटी की चर्चा हर तरफ होने लगी और जल्द ही उनके बहुत सारे ग्राहक बन गए ।

इस संघर्ष के समय साथ ही पैसे कमाने के प्रयास में लगे रहे । 8 साल के बाद उन्होंने एक हाई पेइंग कस्टमर से कॉन्ट्रैक्ट किया। मेनन के काम में अच्छी गुणवत्ता के साथ ही उनकी यह खासियत थी कि वे अपना काम समय पर पूरा करते थे । जिससे उन्हें एक अलग पहचान मिली ।

उन्होंने एक फर्म खोल ली और इसका नाम रखा शोभा लिमिटेड । आज मेनन की संपत्ति फोब्स के अनुसार 10,801 करोड़ बताई जाती है। साल 2013 में उन्होंने अपनी संपत्ति का आधा हिस्सा बिलगेट्स के चैरिटी को दान में दे दिए थे ।