September 21, 2021

Hindi News: Motivational & Success Stories in Hindi- Best Real Life Inspirational Stories

Find the best motivational stories in hindi, inspirational story in hindi for success and more at hindifeeds.com

Success story of IAS topper Vikas Meena

Success story of IAS topper Vikas Meena

हिंदी माध्यम में परीक्षा दे कर विकास कुछ इस तरह से यूपीएससी परीक्षा पास करके बने आईएएस

Success story of IAS topper Vikas Meena:-

विकास मीणा राजस्थान के छोटे से गांव से ताल्लुक रखते हैं। उनका जन्म राजस्थान के एक गांव में हुआ था।

आज विकास  मीना आईएएस बनके अपने परिवार का नाम रोशन कर दिए हैं। आज उनके नाम का उदाहरण उनके परिवार के साथ-साथ आसपास के क्षेत्र में भी दिया जाता है।

विकास ने अपनी शुरुआती पढ़ाई गांव में ही की थी। उनके पिता चाहते थे कि विकास और उनके भाई सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी करके सिविल सेवा में जाए।

12वीं करने के बाद विकास ग्रेजुएशन के लिए जयपुर चले गए थे। ग्रेजुएशन करने के बाद विकास और उनके भाई आगे की पढ़ाई और तैयार करने के लिए दिल्ली चले गए।

जहां पर उन्होंने यूपीएससी की तैयारी शुरू कर दी। साल 2017 में विकास को सफलता मिली और उनका UPSC में चयन हो गया। बता दें कि विकास ने यूपीएससी परीक्षा को हिंदी माध्यम में पास किया है।

हिंदी माध्यम को लेकर डर

विकास मीणा ने बताया कि जब वह यूपीएससी की तैयारी करने के लिए दिल्ली आए थे तब उनके मन में डर था। हिंदी माध्यम वालों का यूपीएससी परीक्षा में खराब प्रदर्शन के चलते हैं उनके मन में डर था।

शुरुआत में वह बेहद डर रहे थे। क्योंकि वह हिंदी मीडियम के छात्र थे। लेकिन उन्होंने इस बात को अपने दिमाग पर हावी नहीं होने दिया और यूपीएससी की तैयारी में जुट गए।

डरे नहीं

विकास मीणा का कहना है कि प्री परीक्षा की तैयारी में कई छात्रों में कुछ दिन पहले डर की बात आ जाती है। स्टूडेंट को लगता है कि उन्हें कुछ भी याद नहीं है। उन्हें कुछ भी आता नहीं है और वह खुद को ब्लाक सा महसूस करने लगते हैं।

लेकिन विकास मीना का कहना है कि ऐसे समय में छात्रों को बिल्कुल भी घबराना नहीं चाहिए। बल्कि अपने मन से डर को पूरी तरह से बाहर निकालना चाहिए।

पेपर के एक दिन पहले पूरी ठीक से नींद लेनी चाहिए। जिससे परीक्षा हाल फ्रेश माइंड के साथ परीक्षा दी जा सके।

ओएमआर शीट ध्यान से भरे

विकास मीणा का कहना है कि परीक्षा में आने वाला हर प्रश्न बहुत ही महत्वपूर्ण होता है। इसलिए हर प्रश्न को पूरा महत्व और बराबर समय देना चाहिए। सबसे पहले उन प्रश्नों को हल करने की कोशिश करनी चाहिए जो अच्छी तरीके से आते हैं।

इसके बाद उन प्रश्नों को देखे जो बिल्कुल भी न आते हो। इस दौरान ओएमआर शीट को भरते समय बहुत ही सावधानी बरतनी चाहिए।

क्योंकि कई बार गलती से गलत स्थान पर भर जाने से आपके नंबर कट जाते हैं। आप सही विकल्प कुछ जानते हुए भी जल्दबाजी और घबराहट में गलत विकल्प को भर देते हैं।

परीक्षा में जाने से पहले करें

तैयारी विकास मीणा का कहना है कि एग्जाम हॉल में जाने से पहले कुछ विशेष तैयारी कर लेनी चाहिए जैसे अपने साथ एडमिट कार्ड, आईडी, ब्लैक बॉल प्वाइंट पेन जैसी जरूरी चीजों को ध्यान से रख लेना चाहिए।

इन्हें भूलना नहीं चाहिए। इन चीजों को एक दिन पहले ही ढूढ करके एक जगह रखनी तो ज्यादा बेहतर रहता है। इससे अंतिम समय में इन चीजों की तलाश करने में समय नहीं खराब होता है।

आप चाहे हिंदी माध्यम से हो या अंग्रेजी खुद पर विश्वास बनाए रखें। खुद पर विश्वास सफलता की पहले सीढ़ी मानी जाती है।

यह भी पढ़ें :

मजदूरी करने और रेलवे स्टेशन पर सोने वाले IAS एम शिवगुरु प्रभाकरन का प्रेरणादायक सफर