आर्थिक स्थिति नहीं थी अच्छी लगातार रखा पढ़ाई पर फोकस और इस प्रकार बन गए आईएएस टॉपर

upsc success stories in hindi

जैसे की हम सभी जानते हैं कि भारत की संघ लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित की जाने वाली यूपीएससी की परीक्षा को देश की परीक्षाओं में से एक माना जाता है साथ ही साथ इस परीक्षा मैं हर साल अपने सपने को पूरा करने की उम्मीद से लाखो अभ्यार्थी हिस्सा लेते हैं ।

कोई गिने-चुने और निपुण अभयार्थी ही इस परीक्षा में सफलता हासिल कर पाते हैं , अर्थात हर साल आयोजित होने वाली यूपीएससी की परीक्षा में अपने पहले प्रयास में सफलता हासिल करने वाले अभ्यार्थी देश की कई युवाओं के लिए प्रेरणा स्रोत के रूप में उभर आते हैं ।

कठिन परीक्षा में सफलता हासिल करने की उम्मीद हर साल अभ्यार्थी हिस्सा लेते हैं और कड़ी मेहनत और लगन के साथ इस परीक्षा में सफलता हासिल करने का प्रयास करते हैं और कोचिंग और सेल्फ स्टडी अर्थात इंटरनेट का सहारा लेकर खुद को निपुण करते हैं अर्थात इस परीक्षा में सफलता हासिल करने वाले अभ्यर्थियों का मेन मोटिवेशन आईएएस अफसर बनने का होता है।

साथ ही साथ इस कठिन परीक्षा में हिस्सा लेने वाले कई अभ्यर्थी ऐसे होते हैं जो अपने पहले प्रयास में ही सफलता हासिल कर लेते हैं परंतु कई अभ्यर्थी ऐसे होते हैं जो असफलताओं से हार मान लेते हैं और कई अभ्यर्थी ऐसे भी होते हैं जो लगातार असफलताओं से सीख लेकर सफलता हासिल करने का प्रयास करते हैं और अपने हौसले को बुलंद करके सफलता हासिल कर ही लेते हैं ।

इन्हीं सब अभ्यर्थियों में से एक है सत्यम गांधी  जानकारी के लिए आप सभी को बता दें कि सत्यम गांधी उन अभ्यर्थियों में से एक हैं जिन्होंने अपने पहले प्रयास में आईएएस की कठिन परीक्षा में सफलता हासिल की है, सत्यम गांधी ने अपनी कड़ी मेहनत और प्रयास के बाद वर्ष 2020 में होने वाली यूपीएससी की परीक्षा में 10 वीं रैंक हासिल की है।

परिचय

जानकारी के लिए आप सभी को बता दें कि सत्यम गांधी मूल रूप से बिहार के समस्तीपुर जिले के गांव दिघरा के रहने वाले हैं । सत्यम गांधी शुरुआत से ही पढ़ाई में काफी अधिक होशियार रहे हैं अपनी शुरुआती शिक्षा पूरी करने के बाद सत्यम गांधी ने अपनी ग्रेजुएशन की पढ़ाई पॉलिटेक्निक साइंस के विषय में पूरी की है।

इसके कुछ समय बाद ही सत्यम गांधी दिल्ली चले गए , सत्यम ने दिल्ली जाकर वहां सिविल सेवा की परीक्षा में जाने का निश्चय किया और सिविल सेवा की परीक्षा की तैयारी शुरू कर दी ।

जिसके लिए सत्यम ने सबसे पहले यूपीएससी के सिलेबस को समझा उसके बाद तैयारी करनी शुरू कर दी , सत्यम गांधी ने यूपीएससी की परीक्षा में सफलता हासिल करने के लिए गैर संबंधी कार्यों से पूरी तरह से दूरी बना ली और अपना पूरा ध्यान पढ़ाई पर दे दिया था ।

इस प्रकार हासिल की सफलता

सत्यम गांधी ने अपनी पढ़ाई को पूरी तरह से करने के बाद यूपीएससी की तैयारी की और यूपीएससी की तैयारी करने के लिए उन्होंने अपना सारा फोकस पढ़ाई की और दे दिया सत्यम गांधी ने अपनी पढ़ाई के लिए सेल्फ स्टडी इंटरनेट का सबसे अधिक सहारा लिया ।

साथ उन्होंने अपनी जनरल नॉलेज को बढ़ाने के लिए रोजाना अखबार पढ़ना शुरू कर दिया था,इस दौरान उन्होंने यूपीएससी की परीक्षा देने का निश्चय किया , सत्यम गांधी ने अपनी पहली परीक्षा देने का निश्चय किया और अपने पहले प्रयास में वर्ष 2020 में भारत द्वारा आयोजित की गई यूपीएससी की परीक्षा में ऑल ओवर इंडिया में 10 वीं रैंक हासिल करके शानदार जीत हासिल की ।

अन्य अभ्यर्थियों के लिए सलाह

सत्यम गांधी का कहना है कि अगर आप यूपीएससी परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं तो आपको अपने मेंटल और फिजिकल स्ट्रैंथ को बढ़ाना चाहिए अर्थात यूपीएससी का सिलेबस इतना विशाल होता है मेंटल स्ट्रैंथ का बढ़ना काफी आवश्यक होता है इस कारण लगातार प्रयास करें सफलता आपको अवश्य मिलेगी ।

 

लेखिका : अमरजीत कौर

यह भी पढ़ें :

आइए जानते हैं दिव्यांशु चौधरी के बारे में जिन्होंने अपनी लाखों की नौकरी छोड़ कर की यूपीएससी की तैयारी इस प्रकार हासिल की सफलता ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *