नवम्बर 27, 2022

Motivational & Success Stories in Hindi- Best Real Life Inspirational Stories

Find the best motivational stories in hindi, inspirational story in hindi for success and more at hindifeeds.com

एक दो साल नही बल्कि 10 साल तैयारी करके इस शख्स ने IAS बनने का सपना पूरा किया

SUCCESS STORY :-

आज बहुत सारे लोगों का सपना सिविल सर्विसेज में जाने का होता है। स्कूल के दिनों से ही बच्चे IAS बनने का सपना देखने लगते हैं। इस बात का अंदाजा इस बात से भी हम लगा सकते हैं कि बिहार बोर्ड में टॉप करने वाला ज्यादातर से स्टूडेंट से जब पूछा जाता है कि वह बड़ा होकर क्या बनेगा?

तो वह यजी कहता है कि वह बड़ा होकर आईएएस बनना चाहता है। यही वजह है कि हर साल यूपीएससी सिविल सर्विसेज एग्जाम में शामिल होने वाले कैंडिडेट की संख्या बढ़ती जा रही है।

साल 2021 में जून में होने वाली सिविल सर्विस परीक्षा को टाल दिया गया है। सैकड़ों कोचिंग इंस्टिट्यूट यूपीएससी की पढ़ाई कर आते हैं और लाखों में कमाई कर रहे हैं।

लेकिन आज हम एक ऐसे शख्स की कहानी लेकर आए हैं जिसमें सेल्फ स्टडी के दम पर 10 साल यूपीएससी की तैयारी की और आईएएस बनने का सपना पूरा किया।

जी हां हम बात कर रहे हैं करीब 10 साल यूपीएससी की तैयारी करने वाले आईएएस टॉपर अभिषेक तिवारी की जो अपने आप में लोगों के लिए प्रेरणा स्त्रोत है। उन्होंने इस परीक्षा की तैयारी करने में करीब एक दशक का समय बिताया है। लोग यह सुनकर हैरान भी होंगे लेकिन यह बात बिल्कुल सच है।

अभिषेक ने 2011 में अपना ग्रेजुएशन पूरा किया था। उसी के बाद उन्होंने यूपीएससी की तैयारी भी शुरू कर दी थी। अभिषेक को उनके तीसरे प्रयास में 2019 में यूपीएससी में सफलता मिली।

अभिषेक बताते हैं कि इंटर करने के बाद उनका रुझान डिफेंस में कैरियर बनाने का था। लेकिन उन्हें वहां पर सफलता नहीं मिल पाई। तब उन्होंने यूपीएससी की तैयारी शुरू की और IAS बनने का सपना संजोया।

मिलिट्री स्कूल से हुई प्रारंभिक पढ़ाई –

अभिषेक के शुरुआती पढ़ाई बेंगलुरु में स्थित मिलिट्री स्कूल से हुई है। वह बचपन में ही पढ़ने में काफी होशियार थे। इंटरमीडिएट की पढ़ाई के बाद अभिषेक ने डिफेंस में कैरियर बनाने का फैसला किया।

साथ ही वह ग्रेजुएशन भी कर रहे थे। कई प्रयास के बावजूद अभिषेक का सिलेक्शन एनडीए में नहीं हो पाता है। तब उन्होंने यूपीएससी की तैयारी का फैसला किया और ठान लिया कि वह इस परीक्षा को हर कीमत पर पास करेंगे।

2011 से उन्होंने यूपीएससी का सफर शुरू किया और लगातार तैयारी करते रहे साल 2019 में उनका यह सफर पूरा हुआ और उनका सपना पूरा हुआ।

ऐसे रहा यूपीएससी का सफर –

अभिषेक ने जब पहली बार यूपीएससी की परीक्षा दी थी तो उन्हें उस परीक्षा में असफलता का सामना करना पड़ा था। इसके बाद वह अपनी तैयारी में फिर से जुटते हैं और फिर से प्रयास करते हैं।

दूसरे प्रयास में अभिषेक इंटरव्यू राउंड तक पहुंच जाते हैं। लेकिन फाइनल लिस्ट में उनका नाम नहीं आ पाता है। लेकिन वह इससे निराश नहीं होते हैं और खुद के कॉन्फिडेंश को बढ़ाते हैं।

वो फिर से अपना तीसरा प्रयास देते हैं और अपनी सारी गलतियों को सुधार कर बेहतर परफॉर्मेंस करते हैं। इस बार तीसरे प्रयास में उन्हें सफलता मिलती है और उनका आईएएस बनने का सपना पूरा हो जाता है।

दूसरे अभ्यार्थियों को सलाह –

अभिषेक का मानना है कि यूपीएससी की परीक्षा में सफलता हासिल करने के लिए सबसे जरूरी है किताबों का ढेर न लगाया जाए बल्कि कुछ चुनिंदा किताबों से ही पढ़ाई की जाए और उनका बार-बार अधिक से अधिक रिवीजन किया जाये। इससे तैयारी को बेहतर करने में काफी मदद मिलती है।

और वह कहते हैं कि कई बार लोग छोटी-छोटी गलतियां करके यूपीएससी में सफलता हासिल नहीं कर पाते हैं। उनका कहना है कि शुरू से ही यूपीएससी को काफी गंभीरता के साथ लेकर गंभीरता से इस परीक्षा को देना चाहिए।

यह भी पढ़ें :

IAS बनने के लिए 6 महीने खुद को कमरे में बंद करने वाली निधि की सफलता की कहानी