नवम्बर 30, 2022

Motivational & Success Stories in Hindi- Best Real Life Inspirational Stories

Find the best motivational stories in hindi, inspirational story in hindi for success and more at hindifeeds.com

Constable se DSP banne ki Bihar ki Babli ki kahani

कॉन्स्टेबल से डीसीपी बनने वाली बिहार की बबली , जिसने मां की ममता और सिपाही की कठिन ड्यूटी के बीच इस प्रकार हासिल की सफलता

जानकारी के लिए आप सभी को बता कि 7 महीने की बच्ची और सिपाही की कड़ी ड्यूटी के बीच बिहार की एक लेडी कॉन्स्टेबल ने अपनी कड़ी मेहनत के साथ डीएसपी की परीक्षा पास की है, आज इस बिहार की लेडी कॉन्स्टेबल का संघर्ष और उनको मिली सफलता लोगों के लिए प्रेरणा स्रोत बनकर सामने आ रही है ।

यह बात तो सत्य है कि अगर हम कुछ करने का निश्चय कर लेते हैं अर्थात कड़ी मेहनत और सफलता के साथ अपने मुकाम को हासिल करने का प्रयास करते हैं तो लगातार कई सफलताओं के बाद हमें अपना मुकाम अवश्य हासिल होता है।

कठिन परिश्रम से ही कामयाबी हासिल होती है अर्थात इस कथन को पूर्ण रूप से प्रमाणित किया है बिहार की लेडी कॉन्स्टेबल ने जानकारी के लिए आप सभी को बता दें कि बिहार की यह लेडी कॉन्स्टेबल ने मां की ममता का फर्ज निभाते हुए सिपाही की कठिन ड्यूटी को करते हुए अपनी मेहनत और लगन के बल पर डीएसपी की परीक्षा पास करके सफलता हासिल की है और आज बिहार के पुलिस अधिकारी के रूप में नियुक्त होने वाली हैं ।

बबली को किया गया है सम्मानित

हम जिस बिहार की लेडी कॉन्स्टेबल की बात कर रहे हैं उसका नाम बबली है अर्थात अपनी सफलता का मुकाम हासिल करने के बाद बबली को बेगूसराय के एसपी योगेंद्र कुमार द्वारा सम्मानित किया जा चुका है ।

जिले की होनहार सिपाही ने अपनी ड्यूटी से ना केवल समय निकालकर अपना सपना पूरा किया है , बल्कि अपनी सफलता से कई लोगों को आगे बढ़ने के लिए प्रेरित भी किया है ।

वर्ष 2015 में कॉन्स्टेबल के पद पर हुआ था चयन

बबली अपने सफर के बारे में बताते हुए कहती हैं कि उन्होंने वर्ष 2015 में बतौर एक कॉन्स्टेबल खगड़िया में अपनी ड्यूटी देनी शुरू की , अपनी नौकरी के साथ ही साथ उन्हें पढ़ने का काफी अधिक शौक था।

इसलिए उन्होंने अपनी पढ़ाई जारी रखी , अर्थात उन्होंने डीएसपी परीक्षा में तीसरे प्रयास में सफलता हासिल करके उच्च मुकाम हासिल किया है अर्थात वह बताती हैं कि बचपन में परिवार की आर्थिक स्थिति को देखते हुए सदैव ही मुझे मेहनत करने की प्रेरणा मिली है ।

गोद में अपनी बच्ची को लेकर बबली आई थी सम्मान समारोह में

बबली अपने घर की सबसे बड़ी बेटी है अर्थात उनकी शादी रोहित कुमार से हुई है और उनकी 7 महीने की बेटी है उन्होंने सम्मान समारोह में अपनी बेटी के साथ सम्मान पद ग्रहण किया साथ ही साथ उनके इस सफलता से उनके पति और उनके कई सहकर्मी काफी खुश हैं ।

आज बबली ना केवल अपने सम्मान से खुश हैं, बल्कि वह अन्य लोगों को नौकरी के साथ-साथ उच्च पद ग्रहण करने के लिए प्रेरित भी कर रही है, बबली ने अपनी बच्ची को संभालते हुए ड्यूटी को संभालते हुए अर्थात कड़ी मेहनत करके डीएसपी की परीक्षा पास करके अब डीएसपी का पद ग्रहण किया अर्थात उनके इस सफलता से उनके परिवार वाले काफी अधिक खुश है।

 

लेखिका : अमरजीत कौर

यह भी पढ़ें :

42 साल की मां और 24 साल के बेटे की कहानी जिन्होंने एक साथ PSC की परीक्षा में एक साथ हासिल की है सफलता