ADVERTISEMENT
Farmer Himanshu gangwar success story in Hindi

बीटेक पास हिमांशु गंगवार ने शुरू किया खेती अब कमाते है लाखों

ADVERTISEMENT

आज हम बात करने वाले हैं हिमांशु गंगवार के बारे में , हिमांशु यूपी के फर्रुखाबाद डिस्ट्रिक्ट के रहने वाले हैं, हिमांशु ने बीटेक की पढ़ाई पूरी करने के बाद अब प्राकृतिक खेती की मदद से अपना एक स्टार्टअप शुरू करके सलाना 14 से 15 लाख रुपए का मुनाफा कमाते हैं।

हिमांशु पहले 2500 की कमाई वाली नौकरी करते थे परंतु आज उनका कंपनी का टर्नओवर लाखों में है , हिमांशु 20 दिसंबर को लखनऊ में आयोजित कृषक शिविर में देश-विदेश से आने वाले किसानों को खेती की गुणवत्ता को संबोधित करेंगे ।

ADVERTISEMENT

 नौकरी छोड़ दी

हिमांशु का कहना है कि उन्होंने 1993 में आरईसी कॉलेज से मैकेनिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी की थी , और इसके कुछ समय बाद उन्होंने 1994 -96 मैं सार्वजनिक उद्यमिता विभाग में 2500 की नौकरी करीब 3 साल तक की थी ।

हिमांशु बताते हैं कि उन्होंने 3 साल बाद 1996 में उस जॉब को छोड़ दिया और साहिबाबाद के पेंटागन स्क्रू एंड फर्स्ट लिमिटेड कंपनी के साथ जुड़ गए , जॉइनिंग के दौरान उनकी सैलरी कुछ कम थी, कुछ दिन बाद हिमांशु अपनी जॉब से संतुष्ट नहीं हो पाया और अपनी जॉब को छोड़ कर अपने गांव वापस आ गए और खेती करने लगे।

बीटेक बाद खेती करने से घर वाले थे नाराज

हिमांशु बताते हैं कि मैंने जब नौकरी छोड़कर गांव वापस आकर खेती करने का निश्चय लिया मेरी मां बिल्कुल खुश नहीं थी क्योंकि उनका ऐसा मानना था कि खेती से अच्छा जॉब करना है ।

इस दौरान मैंने अपनी मां की भी बात नहीं सुनी और एक विदेशी लेखक की किताब को पढ़कर खेती करना शुरू कर दिया , पहले प्रयास में भले ही थोड़ी दिक्कत हुई परंतु मैंने हार नहीं मानी और अपने प्रयास को जारी रखा ।

अन्यथा हिमांशु बताते हैं कि उनके पिता और भाई उनके इस फैसले से काफी खुश थे और उन्होंने उनके इस काम को लेकर उनका पूरा साथ दिया और प्रोत्साहन भी बढ़ाया ।

हिमांशु बताते हैं कि खेती करने के दौरान उन्हें कई बार असफलता हासिल हुई और कई लोगों ने उन्हें शर्मिंदा करने की भी कोशिश की परंतु वह लगातार प्रयास करके सफल होने का प्रयास करते रहे।

जिंदगी में आया यू टर्न

हिमांशु बताते हैं वर्ष 2011 में दिल्ली में आयोजित कृषि सेमिनार में उनकी मुलाकात कृषि पद्धति के जन्मदाता सुभाष पालेकर से हुई थी, इस दौरान सुभाष में उन्हें सुनने लागत में प्राकृतिक खेती करने का तरीका बताया और हिमांशु ने उन सभी तरीकों को फॉलो करके प्राकृतिक खेती करनी शुरू की ।

इस दौरान हिमांशु द्वारा की गई प्राकृतिक खेती सलाना काफी अधिक मुनाफा कमा लेते है और उनके 20 एकड़ खेतों में सलाना वह प्रति एकड़ 12 लाख की कमाई कर लेते हैं , आज हिमांशु की तरक्की देखकर उनके आसपास के लोग हिमांशु की तरह प्राकृतिक खेती करने का प्रयास कर रहे हैं।

स्टार्टअप से कर रहे हैं इस प्रकार करोड़ों की कमाई

हिमांशु बताते हैं कि उन्होंने खेती के साथ ही साथ अपने भाई के साथ मिलकर बाई प्रोडक्ट जैसे गुड़ को पैक करने का एक स्टार्टअप शुरू किया है, हिमांशु की कंपनी का नाम ” गौरव गुड़ ” है।

हिमांशु अपने स्टार्टअप के साथ ही साथ और शुन्य लागत वाली प्राकृतिक खेती करके सालाना 14 से 15 करोड का मुनाफा आसानी से कमा लेते है ।

हिमांशु ना केवल अपनी छोटी सी नौकरी को छोड़कर आज करोड़ों की कमाई करते हैं परंतु कई बार असफलता हासिल करने के बावजूद भी सफल होने का उनका जज्बा कई लोगों के लिए प्रेरणा स्रोत बन रहा है ।

लेखिका : अमरजीत कौर

यह भी पढ़ें :

बिहार के इस गांव के किसान लीची की खेती करके कमा रहे हैं हजारों रुपए का मुनाफा महिलाओं को भी दे रहे हैं घर बैठे काम करने का अवसर

Similar Posts

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *