ADVERTISEMENT
IPS Sangeeta Kalia success story in Hindi

आइए जानते हैं IAS संगीता कालिया के बारे में, अपनी 6 नौकरियों को छोड़कर बनी है आईएएस, दो बार एक ही बीजेपी मंत्री से भीड़ चुकी है

ADVERTISEMENT

जानकारी के लिए आप सभी को बता दें कि आईपीएस संगीता कालिया हरियाणा की रहने वाली हैं, संगीता कालिया का आईएएस बनने का सफर काफी अधिक दिलचस्प है , संगीता अपनी कुल 6 नौकरियों को छोड़कर आईएएस बनी है, एसपी पद पर होने के बावजूद संगीता बीजेपी मंत्री से भिड़ चुकी है और इसके लिए उन्हें सजा भी भुगतान करनी पड़ी थी ।

संगीता कालिया भवानी जिले के एक साधारण परिवार से पली-बढ़ी हैं यह बात बहुत कम लोगों को ज्ञात होग कि संगीता के पिता पुलिस में कारपेंटर के पद पर तैनात थे , अर्थात संगीता कालिया की पहली पोस्टिंग उसी विभाग में बतौर एसपी के पद पर हुई थी ।

ADVERTISEMENT

जानकारी के लिए आप सभी को बता दें कि संगीता कालिया के पिता विवेक कालिया, धर्मपाल फतेहबाद पुलिस स्टेशन मैं कार्यरत है अर्थात वर्ष 2010 में वह अपने कार्य से रिटायर हो चुके थे , इस दौरान संगीता ने अपनी पूरी पढ़ाई भिवानी से वर्ष 2005 में पूरी की थी , और कुछ समय बाद ही उन्होंने यूपीएससी परीक्षा की तैयारी करना शुरू कर दिया था अर्थात इन्होंने पहली बार वर्ष 2009 में यूपीएससी की परीक्षा दी थी ।

जानकारी के लिए आप सभी को बता दें कि संगीता कालिया अपने पहले प्रयास में पास नहीं हो पाई उन्होंने अपनी असफलता से हार नहीं मानी परंतु उन्होंने एक बार फिर से यूपीएससी की परीक्षा देने का निश्चय किया और वह अपने तीसरे प्रयास में सफलता को हासिल कर पाएं, इतना ही नहीं संगीता कालिया वह शख्स है जो कुल मिलाकर 6 नौकरियों को छोड़कर पुलिस विभाग में आई है ।

संगीता कालिया बताती है कि उन्हें आईएएस बनने की प्रेरणा उड़ान सीरियल देख कर और उनके पिता से प्राप्त हुई है अर्थात वह अपने पहले प्रयास में जिस प्रकार से असफल हो गई थी उस दौरान उनके पिता ने उनका हौसला बढ़ाया और उन्हें प्रेरित किया की असफलताओं से सीख लो और सफलता को हासिल करने का प्रयत्न करो ,इस दौरान ही संगीता कालिया अपने तीसरे प्रयास में सफलता को हासिल कर पाई है ।

जानकारी के लिए आप सभी को बता दें कि संगीता कालिया का वर्ष 2018 में स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज से विवाद हो गया था, और उस वक्त से संगीता कालिया काफी अधिक चर्चा में रहती हैं, आपको बता दें कि स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज फतेहबाद के पुलिस स्टेशन में कष्ट निवारण समिति की बैठक ले रहे थे इस दौरान ही अनिल

विज ने नशे की बिक्री संबंधित शिकायत पर संगीता कालिया से जवाब मांगा तब संगीता कालिया ने जवाब दिया कि पुलिस तस्करी के मामले साल भर में ढाई हजार से अधिक आते हैं इस पर पुलिस अब किसी को गोली तो नहीं मार सकती और इसी बात पर अनिल विज और संगीता कालिया के बीच में  कहासुनी हो गई थी।

दो बार अनिल विज से  हो गया है पंगा

संगीता कालिया का ट्रांसफर रेवाड़ी से पानीपत में हो गया और यह एक बार फिर से उनकी मुलाकात स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज से हो गई , एक बार फिर से वह स्वास्थ्य मंत्री के गुस्से का शिकार बन गई इस दौरान मंत्री ने उनकी शिकायत एसपी साहब से कर दी और एक बार फिर संगीता कालिया का 2 महीने के अंदर में ही ट्रांसफर हो गया ‌।

अब रेलवे में है एसपी के पद पर

जानकारी के लिए आप सभी को बता दें स्वास्थ्य मंत्री की सिफारिश से जब संगीता कालिया का ट्रांसफर हो गया अब वह रेलवे में एसपी के पद पर कार्यरत है , इतना ही नहीं कई मुख्य केस को सुलझाने में संगीता कालिया का महत्वपूर्ण योगदान है उदाहरण के लिए आप सभी को बता दें कि फतेहबाद पुलिस ने ब्लाइंडर मर्डर केस में संगीता कालिया के नेतृत्व में इस केस को पूरी तरह से सुलझाया था ।

 

लेखिका : अमरजीत कौर

यह भी पढ़ें :

अनन्या सिंह 1 साल में तैयारी करके बनी आईएएस , इस प्रकार हासिल की सफलता

 

 

Similar Posts

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *