नवम्बर 29, 2022

Motivational & Success Stories in Hindi- Best Real Life Inspirational Stories

Find the best motivational stories in hindi, inspirational story in hindi for success and more at hindifeeds.com

success story of kimmuskitchen

success story of kimmuskitchen

लुधियाना का बिलोना घी पोलैंड तक पहुंचाने वाली 50 वर्षीय सफल बिजनेसवुमन की कहानी

आज हम बात करने जा रहे हैं पंजाब में पली-बढ़ी और मुंबई ठाणे की रहने वाली एक सक्सेसफुल बिज़नसवुमन कमलजीत कौर की, खबरों से पता चला है कि कमलजीत कौर ने लगभग 1 साल पहले ही Kimmu’s Kitchen की शुरुआत की थी। और आज यह भारत के साथ-साथ कई देशों में लुधियाना के स्वादिष्ट एवं ताजे बिलौना घी का स्वाद दूर-दूर तक पहुंचा रही है।  

  मार्च 2020 के समय जब कोरोना की महामारी ने आम आदमी को हताश कर दिया था। सरकार द्वारा जब लॉकडाउन की स्थितियां लगातार बढ़ती जा रही थी तब आम आदमी का व्यवसाय पीछे छूटता जा रहा था।

वहां कई लोग ऐसे थे जो करोना की महामारी का शिकार हो रहे थे और उनमें से एक कमलजीत कौर भी थी। इस समय करोना की महामारी से जंग लड़ रही थी तब इलाज के समय डॉक्टर ने भी उनके बचने की उम्मीद छोड़ दी थी।

परिवार के सभी सदस्य उनकी स्थिति से हताश हो गए थे। मार्च 2020 में करोना की महामारी ने इस प्रकार लोगों को हताश किया कि कई लोगों ने अपने करीबी खो दिए।  

  ऐसी ही स्थिति का सामना कमलजीत कौर का परिवार कर रहा था । उनका परिवार कमलजीत की बिगड़ती स्थिति के कारण निराश होते जा रहा था लगातार कमलजीत की स्थिति बिगड़ते ही जा रही थी, डॉक्टर ने तो यह भी कह दिया था कि अब वे नहीं ठीक हो पाएंगी। परंतु कहा जाता है ना जीवन जीने की आशा कभी हमें छोड़ना नहीं चाहिए क्योंकि यह हमारे जीवन को हमेशा ही सफलता देती है।  

  कुछ ऐसा ही कमलजीत कौर के साथ हुआ क्योंकि उन्होंने जिंदगी जीने की आश नहीं छोड़ी थी और उनकी तबीयत में सुधार आना शुरू हो गया । उनके परिवार वाले उनकी तबीयत में सुधार आने से काफी खुश हो रहे थे और यह बात पर विचार भी कर रहे थे कि ऐसी क्या वजह है जो उनकी तबीयत में सुधार आना शुरू हो गया था जबकि डॉक्टर ने भी उम्मीद छोड़ दी थी।  

  बातचीत के दौरान कमलजीत कौर ने बताया कि उन्हें बीमारी से लड़ने की ताकत कहां से आई यह तो उन्हें नहीं पता परंतु उन्होंने अपने बचपन के दिनों को याद करते हुए बताया कि वे अपने बचपन के समय में खेतों की ताजी सब्जियां और भैंस का दूध पिया करती थी और यही खानपान के कारण उन्हें दुबारा जिंदगी मिली।  

  बीमारी के समय आया बिजनेस का आईडिया  

  हर किसी ने अपनी जिंदगी में तो यह शब्द सुने ही होंगे कि बुरा वक्त हमेशा कुछ अच्छा सिखा जाता है कुछ इसी प्रकार कमलजीत कौर के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ कोविड-19 में जब वे करोना की महामारी से लड़ रही थी, उन्होंने अपने कई शारीरिक तकलीफों का त्याग कर दिया और पॉजिटिव माइंड से रहने लगी। और इस समय में ही उन्हें एक नए बिजनेस का आईडिया आया।  

  पंजाब के लुधियाना में एक छोटे से गांव में पड़े बड़े होने के कारण कमलजीत को दूध की कमी कभी भी महसूस नहीं हुई। दूध से बनी  घी, पनीर और अनेक चीजें भी बहुत ही शौक से खाया करती थी। खबरों से पता चला है कि जब कमलजीत ने गांव से मुंबई में शिफ्ट किया तो उन्हें सबसे अधिक कमी ताजे दूध की महसूस हो रही थी।  

 कमलजीत बताती है कि वे अपने बचपन में कभी गंभीर रूप से बीमार पड़ी उन्हें ऐसा कुछ याद नहीं क्योंकि उनका बचपन का खानपान काफी अच्छा था। और वे बताती हैं कि शायद इसकी वजह खेतों की ताजा सब्जियां और भैंस का ताजा दूध था। इसके साथ ही साथ उन्होंने यह भी बताया कि साल में कभी कदार सर्दी-जुकाम जैसी चीजें हो जाती थी परंतु कभी कोई गंभीर बीमारी नहीं हुई।  

 और इसी समय कमलजीत अपनी शादी का जिक्र करते हुए कहती हैं कि मेरी शादी के बाद मैं मुंबई चली गई और उसी समय मुंबई की भागदौड़ की जिंदगी में  ताजा खानपान पीछे छूटता चला गया।

मार्च 2020 में कोविड-19 स्थिति से लड़ने के बाद उन्होंने कई महीनों तक मार्केट रिसर्च किया और Kimmu’s Kitchen की शुरुआत की। यह उनके लिए एक स्टार्टअप था और इसकी खासियत लुधियाना का शुद्ध एवं ताजा बिलौना घी था।  

 अब हम आपको बताते हैं कि आखिर यह बिलौना की है क्या, असल में लुधियाना में परंपरागत तरीके से तैयार किए गए घी को बिलौना घी कहते हैं। इस घी मैं कभी भी किसी भी हानिकारक केमिकल और विषैले पदार्थों का इस्तेमाल नहीं किया जाता है।  

  लुधियाना से मुंबई मैं मंगवाती है ताजा दूध  

  कमलजीत बताती है कि शुरुआत में वे अपने बिजनेस के लिए आसपास के विक्रेताओं से दूध मंगाती थी। परंतु वे बताती है कि आसपास के विक्रेताओं से खरीदे गए दूध से निकाले गए घी का स्वाद कुछ ऐसा नहीं था जैसा गांव के दूध से निकाले गए घी में आता है। इसके बाद इन्होंने अपने गुणता और स्वाद से समझौता ना करते हुए लुधियाना से दूध मुंबई मंगाने के तरीके को तलाश करने में जुट गई।  

 कमलजीत कौर बताती है कि उन्होंने कभी भी आसपास की दुकानों से घी नहीं खरीदा क्योंकि उनका ऐसा मानना है कि यह मेरे लिए मेरे भगवान का अपमान करने जैसा है। वह कहती है कि चाहे गांव की बात हो या फिर शहर की मैंने हमेशा ही अपने हाथों से घर पर ही घी बनाया है। वे अपने बिजनेस के आईडी के बारे में बताती हुए कहती है कि अपने घर के घी के स्वाद को लोगों तक पहुंचाना ही उनका बिज़नेस आईडिया है।  

 वह अपने बिजनेस के बारे में बताते हुए कहती हैं कि हम लुधियाना से लाए गए  भैंस के दूध का इस्तेमाल करके घी बनाते हैं और आज Kimmu’s Kitchen मैं बनाए गए घी की डिमांड दूर-दूर तक हो रही है। आज उनका बिजनेस इतना बड़ा हो गया है कि वे साल के 15 लाख रुपए तक कमा लेती है।  

 Kimmu’s Kitchen मैं बनाए गए घी का दाम घी की मात्रा पर निर्भर करता है। कमलजीत कौर बताती है कि साल में लगभग 45000 बोतलें घी की देशभर में निर्यात करती हैं। इसके साथ ही साथ वे बताती है कि वह अपनी कमाई का एक हिस्सा नेकी के कार्यों में भी लगाती है। जैसे कि कभी गुरुद्वारे मैं लंगर लगवाना या फिर अन्य तरीकों से लोगों की सेवा करना।  

 कमलजीत कौर कहती हैं कि किसी भी स्थिति में हार नहीं माननी चाहिए चाहे वह जिंदगी से ही क्यों न लड़ाई लड़ने वाली स्थिति हो। और आज वे अपनी जिंदगी से जंग लड़कर अपने बिजनेस को काफी ऊंचाइयों तक पहुंचा रही है और सब के लिए प्रेरणा का स्रोत भी बन रही है। 

लेखिका : अमरजीत कौर

यह भी पढ़ें :

झूलन गोस्वामी कभी लड़के साथ नही खिलाते थे, जाने अनसुनी दासताँ