आइए जानते हैं देश की महिला पायलट मोनिका खन्ना के बारे में जिन्होंने विमान में आग लगने से बचाया है

Mahila pilot Monica Khanna ki kahani

जैसे की हम सभी जानते हैं कि आज के वर्तमान समय में देश की बेटियां हर क्षेत्र में अपना योगदान दे रही है अर्थात अपना स्थान निर्धारित कर रही है अर्थात देश की सभी बेटियां आज देश के बेटों से हर क्षेत्र में कंधे से कंधा मिलाने में सफल हो रही है अन्यथा चाहे सेना में हो या फिर ऊंची उड़ान भरना देश की बेटियां हर क्षेत्र में अपना नाम रोशन कर रही है ।

आज हम आपको एक ऐसी  महिला पायलट के बारे में बताने वाले हैं जिन्होंने विमान के उड़ान के बीच में इंजन में आग लगने के दौरान काफी शांति पूर्वक विमान की सही लैंडिंग करा के 185 लोगों की जान बचाई है ।

इस महिला पायलट का नाम है मोनिका खन्ना , जानकारी के लिए आप सभी को बता दें कि पटना से दिल्ली जा रहे स्पाइसजेट की बोइंग 737 कि पायलट मोनिका खन्ना ने 185 यात्रियों को लेकर उड़ान भरी थी परंतु उड़ान के बीच में ही विमान के इंजन में आग लग गई थी ।

इस दौरान परिस्थितियों को संभालते हुए पायलट मोनिका खन्ना ने काफी शांति से विमान की सुरक्षित लैंडिंग कराई और 185 यात्रियों की जान को बचाया ।

खबरों से पता चला है कि पायलट मोनिका खन्ना और प्रथम अधिकारी बलप्रीत सिंह भाटिया ने बिना समय को व्यर्थ करते हुए आग लगे हुए इंजन को बंद किया ।

घटना की परिस्थितियों में पायलट मोनिका खन्ना और प्रथम अधिकारी बलप्रीत सिंह भाटिया ने परिस्थितियों को काफी अच्छी तरह से संभाला , अन्यथा यह दोनों एक अनुभवी अधिकारी थे इसलिए उन्होंने काफी शांति से परिस्थितियों को संभालते हुए विमान की सुरक्षित लैंडिंग करवा दी और 185 यात्रियों की जान को बचा लिया ।

खबरों से पता चला है कि विमान में यह आग पक्षी के टकराने से लगी थी अन्यथा इसकी जांच की जा रही है परंतु विमान के क्षतिग्रस्त होने के बाद इंजीनियर द्वारा जब उसका निरीक्षण किया गया तो यह पुष्टि की गई कि विमान किसी पक्षी से टकरा गया और इसी कारण इंजन में आग लगी ।

जानकारी के लिए आप सभी को बता दें कि सोशल मीडिया पर कई लोगों ने मोनिका खन्ना के इस कार्य के बाद उनकी काफी सराहना की गई अन्यथा सभी लोगों का कहना है कि इस आपातकाल की स्थिति में जिस प्रकार इस महिला पायलट ने शांत और समझदारी से काम लेकर विमान को सुरक्षित लैंड करवाया है यह सराहनीय है।

इसके साथ ही साथ कई लोगों का यह भी कहना है कि एक महिला होते हुए जिस प्रकार मोनिका खन्ना ने आपात काल की परिस्थितियों को संभाला है ।

यह कई महिलाओं के लिए प्रेरणा स्रोत के रूप में उभर कर आ रहा है अन्यथा यह कई महिला पायलट के लिए एक संदेश है अर्थात सभी पायलट को आपात काल की परिस्थितियों में शांत और समझदारी से कार्य कर के यात्रियों की जान बचाना काफी आवश्यक है ।

अन्यथा मोनिका खन्ना आज देश के कई महिलाओं के लिए कौशल और नारी शक्ति का उदाहरण के रूप में सामने आ रही है अर्थात जिस प्रकार मोनिका खन्ना ने एकाग्रता और समझदारी दिखाते हुए अपने प्रथम अधिकारी के साथ मिलकर आग लगे इंजन को बंद किया और विमान की सुरक्षित लैंडिंग करवाई इस प्रकार की स्थितियां में यात्रियों की जान बचाना सबसे प्रथम उद्देश्य है अर्थात इस उद्देश्य को निभाते हुए मोनिका खन्ना ने अपनी कुशलता और नारी शक्ति के उदाहरण को प्रकट किया है ।

जैसे की हम सभी जानते हैं कि आजकल जिस प्रकार तेजी से महिलाएं आगे की ओर अग्रसर हो रही है अर्थात हर क्षेत्र में अपना नाम रोशन करेंगे इस प्रकार ऐसी कई महिलाएं हैं कई कुरीतियों के कारण आगे नहीं बढ़ पा रही है परंतु वर्तमान की स्थितियों को देखते हुए महिलाओं को उनका हक मिलना अर्थात नारी शक्ति और कौशलता को प्रथम स्थान देना काफी आवश्यक है ।

 

लेखिका : अमरजीत कौर

यह भी पढ़ें :

पिता बेचते हैं सब्जी ,बेटी ने कोडिंग की भाषा में लिखी नई सफलता की कहानी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *