नवम्बर 30, 2022

Motivational & Success Stories in Hindi- Best Real Life Inspirational Stories

Find the best motivational stories in hindi, inspirational story in hindi for success and more at hindifeeds.com

आइए जानते हैं एक किसान की कहानी जिसने खेती करना छोड़, शुरू किया कुल्हड़ में गर्म दूध बेचने का व्यवसाय , अब कमाते हैं लाखों

आज हम बात करने जा रहे हैं हरियाणा के रहने वाले प्रदीप श्योराण के बारे में, प्रदीप की प्रेरक व्यवसाय की कहानी से प्रेरणा लेकर कई युवक अपना खुद का बिजनेस शुरू कर सकते हैं।

प्रदीप मूल रूप से हरियाणा के रहने वाले हैं और एक सामान्य किसान परिवार से आते हैं, प्रदीप ने एमबीए करने के बाद एक प्राइवेट कंपनी में नौकरी प्राप्त की थी।

प्रदीप बताते हैं कि प्राइवेट कंपनी में नौकरी के दौरान उन्हें कुछ सुकून महसूस नहीं हो रहा था इसलिए उन्होंने अपनी वह नौकरी छोड़ दी और खुद का व्यवसाय शुरू करने का सोचा इस दौरान उन्होंने दूध के कई प्रोडक्ट तैयार कर बेचने शुरू कर दिए।

इन दिनों प्रदीप दूध के कई प्रोडक्ट तैयार करके तो बेचते ही हैं इसके साथ ही साथ कुल्हड़ में गर्म दूध का उनका व्यवसाय काफी जोरों शोरों से चल रहा है।

 

आत्मनिर्भर होने की कहानी

प्रदीप बताते हैं कि एमबीए करने के बाद उन्होंने अपने पिता के साथ मिलकर खेती भी की परंतु इसके साथ ही साथ वे नौकरी की तलाश भी करते थे परंतु नौकरी तो मिल गई परंतु उनकी इच्छा के अनुसार पूर्ति नहीं हो पा रही थी यही कारण था कि उन्होंने अपनी नौकरी को छोड़ने के बाद खुद का एक व्यवसाय शुरू करने का प्रयत्न किया।

आज प्रदीप का व्यवसाय इतना अधिक चल पड़ा है कि वह लोगों के बीच में एक ब्रांड बन गए हैं, प्रदीप का “बागड़ी मिल्क पार्लर” नाम से एक मिल्क पार्लर है जहां वह कुल्हड़ में गर्म दूध बेचते हैं इसके साथ ही साथ दूध से तैयार किए गए उत्पाद जैसे पेड़ा, घी, मिठाइयां सहित दर्जनों दूध के प्रोडक्ट तैयार होते हैं ।

प्रदीप अपने प्रोडक्ट को ना केवल स्थानीय क्षेत्र में बेचते हैं इसके साथ ही साथ वह ऑनलाइन मार्केटिंग भी करते हैं और अपनी प्रोडक्ट्स को देशभर के कई हिस्सों में बेचते हैं।

प्रदीप का स्टाल ना केवल हरियाणा में है बल्कि इसके साथ ही साथ दिल्ली मैं भी जगह जगह पर वह अपने स्टॉल को लगाकर कुल्हड़ में गर्म दूध लस्सी और  दही बेचते हैं, इस दौरान वह 1 महीने में आसानी से 4 से 5 लाख का मुनाफा कमा लेते हैं।

2012 से 2018 के बीच कई कंपनियों में किया था कार्य

प्रदीप बताते हैं कि उन्होंने वर्ष 2012 से लेकर 2018 के बीच में कई कंपनियों में कार्य किया इस तरह सैलरी तो बढ़ रही थी परंतु मन की संतुष्टि नहीं हो पा रही थी वह हमेशा से ही खुद का बिजनेस करना चाहते थे ।

इसलिए उन्होंने  नौकरियों को छोड़कर गांव वापस लौटने का सोच लिया लौटने के बाद उन्होंने पूरे राज्य में घूमने के बाद यह तय किया कि दूध का बिजनेस करना सबसे अच्छा होगा।

इस प्रकार तय किया कि कुल्हड़ वाला दूध बेचूंगा

प्रदीप कहते हैं कि मैंने दूध का बिजनेस करने के बारे में तो सोच लिया था परंतु एक समस्या सामने आ रही थी वह दी ट्रांसपोर्ट की क्योंकि अगर दूध को आने में देर हुई तो दूध खराब हो जाएगा इस दौरान मैंने सोचा मार्केट में ठंडा दूध ना बेचकर गर्म दूध बेचा जाए ।

इस दौरान मैंने सोचा क्यों ना कुल्हड़ वाला गर्म दूध लोगों को बेचा जाए इससे लोगों को खास एहसास मिलेगा और काफी समय से लोगों के बीच में कुल्हड़ का महत्व थोड़ा कम हो गया है, इस दौरान मैंने तय कर लिया कि मैं कुल्हड़ में दूध बेचेंगे।

बिजनेस को रजिस्टर किया और खुद का एक पार्लर खोला

प्रदीप कहते हैं कि मैंने अपने बिजनेस को रजिस्टर किया और इसके बाद खुद का एक पार्लर खोल लिया इस दौरान हरियाणा क्षेत्र में कुल्हड़ वाले दूध को काफी अधिक पसंद किया जाने लगा इस दौरान धीरे-धीरे दिल्ली में भी मेरे कुल्हड़ वाले दूध के ग्राहक बढ़ने लगे ।

सबसे महत्वपूर्ण बात यह थी कि दिल्ली जैसे शहर में असली दूध का मिलना काफी मुश्किल था इस दौरान ही मेरा कुल्हड़ वाला दूध लोगों के द्वारा काफी अधिक पसंद किया जा रहा था और मेरी बिक्री भी काफी अधिक हो रही थी।

लोगों को काम पर रखा, किसान और कुम्हारों को हुआ फायदा

प्रमोद कहते हैं कि आज मेरा यह व्यवसाय  इतना अधिक बढ़ गया है कि मैंने 11 लोगों को काम पर रखा है इतना ही नहीं अब मुझे दूध लाने के लिए कहीं जाना नहीं पड़ता है ।

किसान दूध को जुटाकर हमारे यहां पहुंचा जाते हैं और कुल्हड़ वाला दूध बेचने के लिए मैंने कुम्हारों के साथ कांटेक्ट करके रखा है वह मेरे लिए कुल्हड़ तैयार करते हैं जिससे कुम्हारों को भी काफी फायदा होता है।

आज प्रदीप अपनी प्राइवेट नौकरी को छोड़ कर अपना खुद का व्यवसाय शुरू करके लाखों कमा रहे हैं । इतना ही नहीं इनका कुल्हड़ वाला दूध हरियाणा सहित दिल्ली में लोगों को काफी अधिक पसंद आ रहा है।

जिस प्रकार प्रदीप ने अपनी नौकरी को छोड़ कर अपना व्यवसाय शुरू किया और आज लाखों कमा रहे हैं इनसे कई युवा प्रेरित होकर अपना खुद का बिजनेस शुरू कर सकते हैं।

लेखिका : अमरजीत कौर

यह भी पढ़ें :

नौकरी गंवाने के बाद बेघर दंपति ने शुरू किया राजमा चावल बेचना और कमा रहे हैं हर महीने 60 हजार