Hindi News: Motivational & Success Stories in Hindi- Best Real Life Inspirational Stories

Find the best motivational stories in hindi, inspirational story in hindi for success and more at hindifeeds.com

UPSC success story in Hindi

UPSC success story in Hindi

UPSC 2020 : जागृति ने नौकरी छोड़कर तैयारी की और AIR 2 रैंक लाई

अभी हाल में ही संघ लोक सेवा आयोग यूपीएससी का रिजल्ट आया है। साल 2020 के लिए टॉपर्स की सूची जारी कर दी गई है। साल 2020 के यूपीएससी की सिविल सर्विसेज परीक्षा में टॉप 20 की लिस्ट में 10 महिलाएं हैं।

बता दें कि यूपीएससी सिविल सर्विसेज एग्जाम में बिहार के शुभम कुमार ने पहली रैंक प्राप्त किया है। वही भोपाल की रहने वाली जागृति अवस्थी ने महिलाओं की श्रेणी में टॉप किया है।

जागृति अवस्थी का कहना है अपने सपने को पूरा करने के लिए कड़ी मेहनत के साथ साथ दृढ़ संकल्प बहुत जरूरी है।

कड़ी मेहनत और दृढ़ संकल्प के बदौलत ही उन्होंने यूपीएससी की सिविल सर्विस परीक्षा में दूसरी रैंक हासिल की। जागृति बताती हैं कि उन्होंने यूपीएससी की तैयारी करने के लिए अपनी नौकरी छोड़ दी थी।

बता दें कि जागृति अवस्थी अपने पहले प्रयास में यूपीएससी की सिविल सर्विसेज परीक्षा पास नहीं कर पाई थी। जिसकी वजह से एक पल के लिए वह निराश हुई थी।

लेकिन उन्होंने खुद को डिमोटिवेट नहीं होने दिया। उन्होंने एग्जाम में बेहतर प्रदर्शन करने के लिए अपनी नौकरी छोड़ने का फैसला किया और अपना पूरा ध्यान और पूरा समय यूपीएससी की तैयारी में लगाया।

उन्होंने यूपीएससी सीएसई की तैयारी पूरी मेहनत और लगन के साथ की। नतीजा यह हुआ कि उन्हें ऑल इंडिया दूसरी रैंक मिली।

गलती को सुधारा

जागृति अवस्थी बताती है कि उन्हें उनके पहले प्रयास में सफलता नही मिली थी। इसके बाद उन्होंने इस बात का विश्लेषण करने पर ध्यान दिया कि आखिर उनसे गलती कहां हुई और जो भी गलतियां हुई है उसे कैसे सुधारा जा सकता है।

सबसे पहले उन्होंने यूपीएससी के पाठ्यक्रम को सही ढंग से समझा। यूपीएससी में पूछे जाने वाले प्रश्नों का विश्लेषण किया और इस सब के लिए खुद को मानसिक रूप से तैयार किया।

जागृति अवस्थी की शिक्षा

जागृति अवस्थी मौलाना आजाद नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद गेट की परीक्षा भी पास की थी।

जागृति भेल में टेक्निकल ऑफिसर के पद पर सरकारी नौकरी भी ज्वाइन कर ली थी। उन्होंने 2 साल तक सरकारी नौकरी की।

साल 2017 से साल 2019 तक जागृति देर में टेक्निकल ऑफिसर के पद पर नौकरी करती रही। जागृति अपना पहला अटेम्प्ट नौकरी के साथ देती है।

लेकिन वह सफलता नहीं हासिल कर पाती। तब जागृति अवस्थी ने अपने सपने को पूरा करने के लिए अपनी सरकारी नौकरी छोड़ने का फैसला किया और पूरी तरीके से खुद को यूपीएससी की तैयारी में समर्पित किया।

अन्य अभ्यर्थियों को सलाह –

जागृति अवस्थी का कहना है कि यूपीएससी सिविल सर्विसेज परीक्षा की तैयारी करने वाले उम्मीदवारों को सबसे पहले प्रश्न पत्रों को समझना बेहद जरूरी है।

यूपीएससी की तैयारी करने वाले हर अभयार्थी को सबसे पहले यह देखना चाहिए कि प्रश्न पत्र किस तरह से पूछे जाते हैं। इसके लिए पिछले सालों के प्रश्नों का विश्लेषण करें।

जागृति अवस्थी कहते हैं कि उम्मीदवार अभ्यास करते रहें जिससे उन्हें अपनी कमियों का पता चले और समय रहते उन्हें दूर कर ले।

जागृति का कहना है कि यूपीएससी में सफलता हासिल करने के लिए सबसे जरूरी है कि अभ्यर्थी खुद पर भरोसा करें।

खुद पर भरोसा और कड़ी मेहनत के दम पर यदि सही रणनीति के साथ यूपीएससी की तैयारी की जाती है तो इस परीक्षा में सफलता आसानी से हासिल की जा सकती है।

 

यह भी पढ़ें :

आईएएस बनने के लिए 2 साल तक फोन से रहे दूर और पहले प्रयास में पाई 51 वी रैंक