8 C
Delhi
Friday, January 22, 2021

राजस्थान में स्ट्रॉबेरी की खेती शुरू | Web Designing को छोड़कर

दीपक नायक, एक freelance web designer, ने राजस्थान के बिराटियाकलां गांव में अपने जज्बे,बुद्धि और मेहनत से वो कर दिखाया जो आसपास के गांव में ही नहीं बल्के पुरे राजस्थान के लिए एक मिसाल है।

उसने देखा ज्यादातर किसान उसी फसलों को आज भी उगाते हैं जो बरसो से वे उगाते आ रहे हैं  पर उसमे लाभ नही है। दीपक ने देखा लाभदायक न होने के बाद भी लोग पुरानी पद्धति का उपयोग करते हैं। 

दीपक ने स्थिति को बदलने और मामलों को अपने हाथों में लेने का फैसला किया। जब हम राजस्थान के बारे में सोचते हैं, तो सबसे पहले हमारे दिमाग में आने वाली पहली तस्वीर के दृश्य में भव्य महलों और किलों, और चिलचिलाती धूप में फैले हुए विशाल रेगिस्तान की होती है। 

लेकिन दीपक नायक नाम के एक इंजीनियर ने सर्दियों का फल यहाँ उगाया है जो आमतौर पर पहाड़ी क्षेत्रों में होता है उसे उसने देश के सबसे गर्म क्षेत्र में उगाया है।

दीपक ने खेती में कैरियर बनाने के बारे में जब सोचा तो वो खेती की मूल बातें भी नही जानते थे। दीपक अपने इस कैरियर की शुरुआत के बारे में बताते है  “ मैं अपने पैतृक क्षेत्र का उपयोग करना चाहता था,  web designer होने के कारण मेरी सैलरी भी अच्छी थी और मुझे ये काम थोड़ा अलग भी लगा।”।

दीपक आगे कहते हैं, “Strawberry farming की बात आने पर लोग अक्सर हतोत्साहित हो जाते हैं और मैं यह साबित करना चाहता हूं कि यह असंभव नहीं है।”

 दीपक अक्सर महाराष्ट्र राज्य का दौरा करते थे जहाँ पर उन्होंने स्ट्रॉबेरी की खेती देखी थी।  चूंकि महाराष्ट्र और राजस्थान में मौसम की स्थिति काफी हद तक समान थी, इसलिए दीपक ने अपने बंजर खेत में स्ट्रॉबेरी की खेती करने का फैसला किया।

वो राजस्थान में अपने गृहनगर लौटने के बाद, उन्होंने स्थानीय किसानों की मदद लेने का फैसला किया, लेकिन उन्हें स्ट्रॉबेरी के बारे में कोई जानकारी नहीं थी और लोग नुकसान उठाने के लिए किसी अन्य फसल के साथ प्रयोग नहीं करना चाहते थे। 

दीपक ने तब youtube video की मदद लेनी शुरू की और स्ट्रॉबेरी की खेती पर शोध किया।  उन्होंने कृषिविदों से सलाह ली और फसल के बारे में सब कुछ सीखना शुरू कर दिया।  फिर अपनी पैतृक भूमि पर खेती शुरू कर दी।

इस तरह की शुरुआत :

 दीपक अपनी भूमि की उर्वरता के बारे में अनिश्चि थे तो उन्होंने मिट्टी परीक्षण विभाग की मदद की मांग की।  उन्होंने मिट्टी को 700 रुपये की मामूली लागत के साथ परीक्षण करवाया। दीपक के अनुसार, मिट्टी का पीएच स्तर 7 तक होना चाहिए और स्ट्रॉबेरी उगाने के लिए पानी की विद्युत चालकता 0.7 तक होनी चाहिए। 

तापमान 10 से 30 डिग्री सेल्सियस के बीच कहीं भी होना चाहिए।  सभी प्रक्रियाओं से गुजरने के बाद, उन्होंने भूमि इसे खेती के लिए तैयार किया।  दीपक ने कृत्रिम उर्वरकों का उपयोग करने के बजाय, गाय के गोबर से बने कार्बनिक पदार्थों का उपयोग किया, जो उन्होंने ग्रामीणों से प्राप्त किए थे।

  एक बार जब उर्वरक मिल गया तो वृक्षारोपण के लिए लगभग 2 × 180 फीट के बेड लगा दिए गए थे।

बेड तैयार होने के बाद, डीएपी उर्वरक की कम्पोस्ट खाद इन बिस्तरों पर औसतन 50 किग्रा प्रति बिस्तर पर डाली जाती थी।

freelance web designer

सिचाई के लिए उन्होंने ड्रिप सिंचाई प्रणाली को चुना और खेती के लिए नवीनतम पद्धति में से एक और फसल का प्रयोग किया – शहतूत का। 

दीपक ने खेती को एक नया आयाम दिया।  उनका मानना ​​है कि हर कोई व्यापार या नौकरियों में मुद्दों का सामना करता है।  हर क्षेत्र में उतार-चढ़ाव आते हैं लेकिन भागना कभी भी किसी भी समाधान नहीं हो सकता।

 दीपक ने पुणे से स्ट्रॉबेरी के पौधे 9.50 रुपये प्रति पौधे के हिसाब से खरीदे।  शुरुआत में, उन्होंने 15,000 पौधे खरीदे और उन्हें एक एकड़ भूमि में लगाया। तब मालूम किया कि एक एकड़ में 24,000 पौधे लगाए जा सकते हैं और  वृक्षारोपण के लिए बनाई गई दो पंक्तियों के बीच की दूरी 10-12 इंच होनी चाहिए। 

हालांकि, उन्होंने लगभग 12-14 इंच की दूरी पर पौधे लगाए थे।  “स्ट्रॉबेरी के पौधों में फंगस होने का खतरा होता है, और किसी को फफूंदनाशक का छिड़काव करते रहना पड़ता है। 

दीपाक का कहना है कि स्प्रे मशीनों का उपयोग करके और नियमित रूप से शावर देने से जैविक फफूंदनाशकों का उपयोग करना और तापमान को बनाए रखना महत्वपूर्ण होता है।

 दीपक ने 4 लाख रुपये के शुरुआती निवेश के बाद, पिछले साल अक्टूबर में स्ट्रॉबेरी का उत्पादन शुरू किया और फल को दिसंबर तक प्राप्त किया। 

उन्होंने राजस्थान के ब्यावर, अजमेर और अन्य स्थानों पर फल बेचना शुरू किया।  आज दीपक अपने एक एकड़ के खेत में पांच टन स्ट्रॉबेरी की खेती करते हैं।

 शुरुआत में, दीपक को अन्य लोगों की बहुत आलोचना का सामना करना पड़ा।  लोग यह कहते हुए उनका मजाक उड़ा रहे थे कि “अगर आपके पौधों को एक एसी वाहन में ले जाया जाता है तो वे इस गर्म मौसम में कैसे बढ़ेंगे ?”  लेकिन अपने शोध पर दीपक को भरोसा था।

आज, अजमेर और बिलावर जैसे आस-पास के क्षेत्रों में उनकी स्ट्रॉबेरी की बढ़ती मांग है।  वह अपनी स्ट्रॉबेरी 200 रुपये प्रति किलो के हिसाब से सीधे बाजारों में उपभोक्ताओं को बेचते है। 

 हमारे किसान अभी भी कृषि के लिए सदियों पुरानी तकनीकों का उपयोग कर रहे हैं और परिणामों से निराश होकर वे आत्महत्या जैसे कठोर कदम उठा रहे हैं।  हमें उन्हें सर्वोत्तम संभव तरीके से प्रशिक्षित करने और उनके लिए काम करने की आवश्यकता है क्योंकि उनके काम के कारण हमें थाली पर भोजन मिलता है।

 

Related Articles

कभी गलियों में भीख मांगने के लिए थे विवश, आज खड़ा कर लिया है 40 करोड़ का कारोबार

कहा जाता है कि सफलता उन्हीं के कदम चूमती है जिनके पास ऊंचाइयों तक पहुंचने के लिए ऊंची सोच के साथ-साथ ऐसे उद्देश्य के...

दो दोस्तों ने मिलकर अपने Unique Idea पर किया काम, अब 100 शहरों में फैल चुका है करोड़ो का कारोबार

हम मे से लगभग सभी लोगों को चाहे देश मे रहे या विदेश में, Indian Food खाना बहुत पसंद होता है। ज्यादातर लोग देसी...

20 मिलीयन फॉलोअर्स के साथ इंटरनेट के सुपरस्टार youtuber भुवन बाम की सफलता की कहानी

आज के दौर में इंटरनेट इंटरटेनमेंट का जरिया बन गया है। You Tube पर ऐसे बहुत सारे वीडियो पड़े हैं जिसको देखकर लोग अपना...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

21,390FansLike
0FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles

कभी गलियों में भीख मांगने के लिए थे विवश, आज खड़ा कर लिया है 40 करोड़ का कारोबार

कहा जाता है कि सफलता उन्हीं के कदम चूमती है जिनके पास ऊंचाइयों तक पहुंचने के लिए ऊंची सोच के साथ-साथ ऐसे उद्देश्य के...

दो दोस्तों ने मिलकर अपने Unique Idea पर किया काम, अब 100 शहरों में फैल चुका है करोड़ो का कारोबार

हम मे से लगभग सभी लोगों को चाहे देश मे रहे या विदेश में, Indian Food खाना बहुत पसंद होता है। ज्यादातर लोग देसी...

20 मिलीयन फॉलोअर्स के साथ इंटरनेट के सुपरस्टार youtuber भुवन बाम की सफलता की कहानी

आज के दौर में इंटरनेट इंटरटेनमेंट का जरिया बन गया है। You Tube पर ऐसे बहुत सारे वीडियो पड़े हैं जिसको देखकर लोग अपना...

Trip के दौरान आये Idea से तीन दोस्तों ने मिलकर खड़ी कर दी Bike Rental Company

Adventure  के शौकीन लोग बाइक के जरिए Road Trip पर निकालना पसंद करते हैं। फिर मौसम चाहे सर्दी का हो, गर्मी का हो या...

पुलिस की नौकरी छोड़कर शुरू किया Potato Farming आज करोड़ों में हो रही सालाना कमाई

कुछ नया सीखने या फिर नया करने के लिए प्रचलित रास्तों से हटकर चुनौती पूर्ण काम कुछ ही लोग कर पाते हैं। लेकिन कुछ...