ADVERTISEMENT
4 brothers and sisters ias ki kahani

चार भाई बहनों की सफलता की कहानी, चारों ने यूपीएससी परीक्षा को पास कर ,बने IAS और IPS अफसर

ADVERTISEMENT

उत्तर प्रदेश के चार भाई बहनों ने मिलकर एक ऐसा काम कर दिखाया है जो महज एक सपने  की तरह ही है यह चार भाई बहन है योगेश, लोकेश, क्षमा और माधवी इन चारों ने यूपीएससी की परीक्षा को पास करके आईएएस और आईपीएस की परीक्षा में सफलता को हासिल किया है।

लालगंज से हैं चारों भाई बहन

जानकारी के लिए आप सभी को बता देगी योगेश ,लोकेश क्षमा और माधवी मूल रूप से उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ के लालगंज के रहने वाले हैं।

ADVERTISEMENT

देश में जब भी अफसर भाई बहनों का जिक्र होता है तो सबसे पहले लालगंज के रहने वाले अनिल मिश्रा के बेटे बेटियों का नाम आता है।

अनिल मिश्रा क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक में बतौर  एक बैंक मैनेजर काम करते थे, अनिल मिश्रा के परिवार ने अपना जीवन यापन महज 2 कमरों में ही किया है परंतु आज इनके घर में चार  अफसर है।

योगेश मिश्रा सॉफ्टवेयर इंजीनियर से बने हैं आईएएस अफसर

योगेश मिश्रा चारों भाई बहनों में से सबसे बड़े हैं, इसके साथ ही साथ तीन अन्य भाई बहनों का अफसर बनने का सपना भी बड़े भाई से ही शुरू हुआ था ।

योगेश नोएडा में एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर के रूप में कार्य करते थे परंतु उन्होंने वर्ष 2013 में सिविल सेवा की परीक्षा को पास कर आईएएस अफसर बन गए।

इस वक्त इनकी दोनों बहने श्रम और माधवी दिल्ली में यूपीएससी की पढ़ाई की तैयारी कर रही है।

बड़े भाई ने निश्चय किया था सबसे पहले आईएस बनने का

मीडिया से बातचीत के दौरान योगेश मिश्रा बताते हैं कि मेरी दोनों बहनों का यूपीएससी का रिजल्ट रक्षाबंधन के दिन आया था परंतु वह दोनों फेल हो गई थी उस दिन मैंने उनका हौसला बढ़ाया था कि वह एक बार फिर से यूपीएससी की तैयारी कर सफलता हासिल कर सकें।

परंतु उस दिन मैंने निश्चित किया कि मैं सबसे पहले आईएएस बनकर दिखाऊंगा ताकि मैं अपनी छोटी भाई बहनों को प्रेरणा दे सकूं।

इस दौरान योगेश मिश्रा वर्ष 2013 में यूपीएससी की परीक्षा में सफलता हासिल कर एक आईएएस ऑफिसर बने और कोलकाता स्थित राजकीय तोप एवं गोला निर्माण में प्रशासनिक अधिकारी हैं।

बड़े भाई की सफलता के बाद छोटी बहन को मिली कामयाब

बड़े भाई योगेश की कामयाबी हासिल करने के बाद छोटी बहन माधवी को वर्ष 2014 में यूपीएससी की परीक्षा मैं पूरे भारतवर्ष में 62वीं रैंक पर बाजी मार ली।

आज माधवी झारखंड के कैडर की आईएएस ऑफिसर बन गई है, इसके साथ ही साथ दिल्ली के विशेष प्रतिनियुक्ति में तैनात है।

दूसरे भाई लोकेश मिश्रा ने वर्ष 2014 में होने वाली सीएआई की परीक्षा में सफलता हासिल की है, और आज आईएएस बन गए हैं।

सबसे छोटी बहन क्षमा मिश्रा यूपीएससी की परीक्षा को पास करके आईपीएस अफसर बन गई है और इनकी तैनाती कर्नाटका में है।

यह है लालगंज के रहने वाले चार भाई बहन जो सामान्य परिवार से होते हुए भी चारों एक यूपीएससी जैसी कठिन परीक्षा को पास करके आईएएस और आईपीएस बन गए हैं।

 

लेखिका : अमरजीत कौर

यह भी पढ़ें :

22 साल में आईएएस बनी आर्मी अफसर की बेटी, यूपीएससी एग्जाम में इस प्रकार हासिल की ऑल ओवर इंडिया में 4th रैंक

Similar Posts

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *