ADVERTISEMENT
GST inspector Komal ki safalta ki kahani

मजदूर की बेटी, जो दो बार असफल होने के बावजूद भी बनी है GST इंस्पेक्टर

ADVERTISEMENT

अंतरिक्ष की परी के नाम से जाने वाली कल्पना चावला का शहर करनाल से एक और सशक्त बेटी ने अपने सपने को पूरा करके दिखाया है अर्थात नासिक की जीएसटी इंस्पेक्टर बन गई है ।

करनाल की बेटी कोमल ने अपने शहर का नाम एक बार फिर से सुर्खियों में ला दिया है , जानकारी के लिए आप सभी को बता दें हांसी रोड की तंग गलियों की रहने वाली मजदूर की बेटी ने नासिक महाराष्ट्र जीएसटी इंस्पेक्टर में तैनाती हासिल की है ।

ADVERTISEMENT

मजदूर की बेटी कोमल के लिए सफलता को प्राप्त करना इतना आसान नहीं था उन्होंने अपने मजबूत इरादों के बल पर ही उन्होंने कई मुसीबतों के बावजूद भी दृढ़ संकल्पित सफलता हासिल की है ।

सुविधाओं के अभाव का रोना रोने वाले लोगों के लिए एक बेहतर उदाहरण है कोमल

ऐसे कई लोग हैं जो बेहतरीन से बेहतरीन कोचिंग सेंटर में लाखों रुपए खर्च करके भी सफलता हासिल नहीं कर पाते हैं उनके लिए इंस्पेक्टर कोमल किसी उदाहरण से कम नहीं है ।

हांडी गली रोड नंबर 10 की रहने वाली कोमल के लिए बड़े सपना देखना आसान नहीं था क्योंकि उनके परिवार दो कमरों में अपनी जिंदगी बिताता था और पिता दिहाड़ी मजदूरी करके उतना ही कमा पाते थे कि महंगाई की मार काफी मुश्किल से झेली जाती थी ।

पिता ने मुश्किलों का सामना करके बेटी को पढ़ाया

पिता की हकीकत को जानते हुए बेटी ने कभी भी पिता की मजदूरी को मजबूरी नहीं बनने दिया और बचपन से हमेशा ही पढ़ाई में अव्वल रही है , इस दौरान पिता ने भी बेटी की काबिलियत को देखते हुए कभी भी उनकी पढ़ाई में किसी प्रकार की कमी नहीं आने दी ।

कोमल के पिता ने घर के जरूरी से जरूरी कामों को रोककर कोमल को बी कॉम और एम कॉम की डिग्री प्राप्त करवाई , बेटी ने भी पिता की मेहनत को पहचाना और ताज बनाकर उसका सम्मान किया एवं एक अच्छे पद पाने का निश्चय कर लिया ।

कोमल ने पढ़ाई के साथ साथ ही की कर्मचारी आयोग की तैयारी 

बतौर एक पुलिस इंस्पेक्टर कोमल कभी भी अपने पिता के संघर्ष को भूलने नहीं वाली है परंतु उन्हें इस बात पर फक्र है कि वह अपने पिता के इच्छाओं पर खरी उतर पाई है ।

आज भी बेटियों की सफलता में समाज कई बाधाओं के रूप में प्रकट होता है परंतु कोमल के पिता ने हमेशा ही अपनी बेटी का सहयोग किया है ।

जानकारी के लिए आप सभी को बता दें कि कोमल ने राजकीय महिला महाविद्यालय से बीकॉम की डिग्री हासिल करने के बाद एम कॉम की पढ़ाई पूरी की और इसके बाद वर्ष 2015 कर्मचारी चयन आयोग की परीक्षा में बैठी थी ।

दो बार नाकाम होने के बावजूद भी नहीं मानी हार, तीसरे प्रयास में मिली सफलता

दो बार नाकाम होने के बावजूद कोमल ने हार नहीं मानी और एक बार फिर से अपने हौसले को मजबूत किया और कड़ी मेहनत और लगन के बल पर एसएससी सीजीएल की परीक्षा में सफलता हासिल की और धीरे-धीरे हर एक पड़ाव को पार कर दी गई इस दौरान वर्ष 2021 में कोमल को ट्रेनिंग में शामिल होने का अवसर प्रदान हुआ ।

आज कोमल महाराष्ट्र के नासिक में जीएसटी इंस्पेक्टर के पद पर तैनात है अर्थात आने वाले समय में कोमल का महत्वपूर्ण लक्षण लोक सेवा की यूपीएससी परीक्षा में उत्तीर्ण होना है ।

 

लेखिका : अमरजीत कौर

यह भी पढ़ें :

अगर नौकरी के लिए अप्लाई करने पर मिल रही है असफलता तो अवश्य पढ़े यह प्रेरणा भरी सफलता की कहानी

Similar Posts

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *