September 21, 2021

Hindi News: Motivational & Success Stories in Hindi- Best Real Life Inspirational Stories

Find the best motivational stories in hindi, inspirational story in hindi for success and more at hindifeeds.com

शुरुआती 2 प्रयास में असफलता के बाद तीसरे प्रयास में इस तरह से IFS Officer अनीशा तोमर ने किया टॉप

शुरुआती 2 प्रयास में असफलता के बाद तीसरे प्रयास में इस तरह से IFS Officer अनीशा तोमर ने किया टॉप

शुरुआती 2 प्रयास में असफलता के बाद तीसरे प्रयास में इस तरह से IFS Officer अनीशा तोमर ने किया टॉप

UPSC Success Story:-

यूपीएससी की सिविल सर्विसेज परीक्षा देश की सबसे प्रतिष्ठित परीक्षा मानी जाती है, साथ ही यह सबसे कठिन परीक्षा भी समझी जाती है। लाखों की संख्या में हर साल इस परीक्षा में अभ्यर्थी बैठते हैं। लेकिन कुछ ही अभ्यर्थी इस में सफल हो पाते हैं और अपना सपना पूरा कर पाते हैं।

बहुत बार देखा जाता है कि यूपीएससी परीक्षा की तैयारी के दौरान मिलने वाली असफलता से कई सारे उम्मीदवार हताश और निराश होकर दूसरी तरफ चल पड़ते हैं और अपने कैरियर का विकल्प बदल देते हैं।

लेकिन कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो शुरुआती असफलता से निराश नही होते बल्कि उसका डट कर मुकाबला करते हैं और अपनी गलतियों से सबक लेकर फिर से तैयारी करते हैं और सफलता हासिल करते हैं।

आज की कहानी भी कुछ ऐसी ही है। अनीशा तोमर ने यूपीएससी की सिविल सर्विसेस परीक्षा में अपने शुरुआती दो प्रयास में असफलता का सामना किया। लेकिन इसके बावजूद वह डटी रही और अपने तीसरे प्रयास में उन्होंने 94 रैंक के साथ टॉप किया और अपना सपना पूरा किया। 

परिचय:  

अनीशा तोमर ने अपने जीवन में हर कठिनाइयों का डटकर सामना किया। कभी भी चुनोतियों के आगे घुटने नहीं टेके। नतीजा यह हुआ कि वह सफलता की सीढ़ियां चढ़ती गई।  अनीशा तोमर बचपन से ही पढ़ाई में काफी होशियार थी।

 स्कूली शिक्षा पूरी करने के बाद वह इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल करने के लिए पंजाब यूनिवर्सिटी में एडमिशन लेती हैं। इंजीनियरिंग में ग्रेजुएशन करने के दौरान ही अनीशा यूपीएससी की सिविल सर्विसेज परीक्षा देने का मन बना लेती हैं और ग्रेजुएशन के बाद साल 2016 से ही वह यूपीएससी की तैयारी शुरू कर देती हैं।

यूपीएससी की तैयारी शुरू करने के लिए सबसे पहले वह यूपीएससी सिविल सर्विसेज एग्जाम का सिलेबस लेकर उसे अच्छी तरह से समझने का प्रयास करती हैं। वह सिलेबस को अच्छी तरह से समझ कर वह अपना स्टडी मैटेरियल तैयार करती है और नियमित रूप से अपनी पढ़ाई प्रारंभ कर देती हैं।

अनीशा तोमर ने यूपीएससी सिविल सर्विसेज परीक्षा का अपना पहला एटेम्पट साल 2017 में दिया। पहले अटेम्प्ट में मात्र कुछ नंबर से वह यूपीएससी सिविल सर्विसेज परीक्षा के प्रीलिम्स एग्जाम को पास नहीं कर पाई।

जिसके बाद वह फिर से तैयारी में जुट जाती है और अपना दूसरा अटेम्प्ट अगले साल देती हैं। हालांकि इस बार भी उन्हें असफलता का सामना करना पड़ता है। दो बार लगातार प्रेलिम्स परीक्षा पास न कर पाने की वजह से वह कुछ पल के लिए निराश होती हैं।

लेकिन इसके बावजूद वह खुद को मेंटली प्रिपेयर करके खुद को प्रोत्साहित करती है और फिर से यूपीएससी की तैयारी में जुट जाती हैं। वह इस दौरान खुद को सकारात्मक बनाए रखने के साथ-साथ धैर्य के साथ अपनी पढ़ाई जारी रहती हैं।

वह अपने 2 प्रयास में असफलता का सही ढंग से विश्लेषण करती हैं। अपनी कमियों को पहचानती हैं और उनमें सुधार लाती हैं। आखिरकार उनकी मेहनत रंग लाती है और अपने तीसरे प्रयास में वह यूपीएससी की परीक्षा के तीनों चरणों को पास कर लेती है और 94 रैंक के साथ टॉप करती हैं। इस तरह से अनीशा तोमर का आईएएस बनने का सपना पूरा हो जाता है। 

दूसरे अभ्यर्थियों को सलाह :  

अनीशा तोमर का मानना है कि यूपीएससी परीक्षा की तैयारी के लिए कोचिंग के साथ साथ स्टडी करना बहुत जरूरी है क्योंकि स्टडी से ही सही मायने में हमारे कांसेप्ट क्लियर हो पाते हैं।

 खुद से नोट्स बना बना कर पढ़ने की आदत यूपीएससी की परीक्षा को पास करने में बहुत मददगार होती है। यूपीएससी की तैयारी करने वाले अभ्यर्थियों को अनीशा तोमर सलाह देती हैं कि सेल्फ स्टडी के साथ-साथ उन्हें अपनी खुद की नोट्स बना कर पढ़ना चाहिए।

इसके अलावा मेंस के लिए ऑप्शनल सब्जेक्ट का चयन बहुत सोच समझ कर करना चाहिए। क्योंकि ऑप्शनल सब्जेक्ट यूपीएससी में सफलता दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। 

वह कहती हैं कि अगर आप इस परीक्षा की कठिनाइयों में धैर्य रख कर पढ़ाई करते रखते हैं तो आप इस परीक्षा को पास कर सकते हैं। वह कहती हैं कि यदि आप यूपीएससी की तैयारी सकारात्मक सोच और धैर्य के साथ सही रणनीति से करते हैं तो आपको सफलता जरूर मिलेगी।

इसके अलावा वह अभ्यर्थियों को यह भी सलाह देती हैं कि अगर आपको यूपीएससी परीक्षा के शुरुआती प्रयास में असफलता का सामना करना पड़ता है तो इससे घबराने की जरूरत नही है । 

सबसे पहले इस बात का आकलन करें कि आपको असफलता क्यों मिली? अपनी कमियों को पहचाने और उनमें सुधार लाने की कोशिश करें। खुद की कमियों को पहचान कर उसे सुधार कर यूपीएससी की परीक्षा को पास किया जा सकता है और अपना सपना पूरा किया जा सकता है 

यह भी पढ़ें :

IAS Success Story: Nagarjun Gowda के अनुसार संसाधनों की कमी सफल होने से नही रोक सकती