ADVERTISEMENT

इस 11 साल के बच्चे का है IQ लेवल आइंस्टीन और हॉकिंग से भी है अधिक

ADVERTISEMENT

जानकारी के लिए आप सभी को बता दें कि स्कॉटलैंड के पीछे में रहने वाला एक 11 साल का बच्चा आजकल काफी चर्चा का विषय बना हुआ है , जानकारी के लिए आप सभी को बता दें कि इस 11 साल के बच्चे का नाम केविन स्वीने (Kevin Sweeney) है।

दिल्ली स्टार रिपोर्ट के अनुसार ऐसा पता चला है कि इस 11 साल के केविन स्वीने का आइक्यू टेस्ट किया गया अर्थात आया कि इस बच्चे का आइक्यू लेवल अल्बर्ट आइंस्टीन और स्टीफन हॉकिंग से कहीं ज्यादा अधिक है ।

ADVERTISEMENT

जैसे कि आप सभी ने तो अल्बर्ट आइंस्टीन और स्टीफन हॉकिंग के बारे में पढ़ा ही होगा , अर्थात जैसे कि आप सभी यह भी जानते होंगे कि यह अपने समय में दिग्गज वैज्ञानिक रहे है अर्थात इन दोनों का आइक्यू लेवल काफी अधिक रहा है।

ऐसा आई क्यू लेवल वाला दिमाग आम लोगों के पास नहीं होता है अर्थात इन दोनों वैज्ञानिकों ने पूरी दुनिया में थ्योरी और ज्ञान का एक नया आयाम दिया था , परंतु क्या हम आज की दुनिया में यह सोच सकते हैं कि इन वैज्ञानिकों जैसा दिमाग आज भी लोगों को मिल सकता है ?

 

इस दौरान आप कहेंगे कि हां हो सकता है परंतु अगर देखा जाए तो ऐसा आइक्यू लेवल पहले के लोगों और ज्यादा उम्र के वैज्ञानिकों के पास ही हो सकता है , परंतु हाल ही में एक 11 साल के बच्चे के बारे में पता चला है जिसका नाम केविन स्वीने है , जिसका आईक्यू लेवल इन दोनों वैज्ञानिकों से कहीं ज्यादा है ।

जानकारी के लिए आप सभी को बता दें कि स्कॉटलैंड शीशे के रहने वाले इस 11 वर्षीय बच्चे ने आईक्यू टेस्ट देने के बाद 162 को हासिल करने के पश्चात काफी फेमस तो हो ही रहा है साथ ही साथ इसे आईक्यू सोसाइटी को जॉइन करने का ऑफर भी मिला है , जिस प्रकार यह बात जानकर हम सभी को हैरानी हो रही है संभवत आपको भी यह बात जानकर काफी हैरानी होगी कि इतना अधिक आईक्यू लेवल दुनिया भर में केवल 1 फ़ीसदी लोगों का होता है ।

केवल 6 वर्ष की आयु में याद किया है केमिस्ट्री का पूरा पीरियॉडिक टेबल

जानकारी के लिए आप सभी को बता दें कि इस हाई आइक्यू लेवल वाले बच्चे को एक ऑटिज्म नामक बीमारी है ,केविन स्वीने जब केवल 6 वर्ष के थे उस वक्त ही इन्होंने केमिस्ट्री का पूरा पीरियॉडिक टेबल याद कर लिया था ।

अर्थात प्राइमरी शुरू करने से पहले ही इस बच्चे ने अपनी पढ़ाई शुरू कर दी थी , खबरों से यह पता चला है कि यह एक इकलौता बच्चा है जिसे एडिनबर्ग के क्वैकर हाउस द्वारा आयोजित आईक्यू लेवल टेस्ट में बैठने का अवसर मिला था , ऐसा कहा जाता है कि आइंस्टीन और हॉकिंग ने कभी भी आइक्यू लेवल टेस्ट नहीं दिया था परंतु फिर भी इस बच्चे का आइक्यू लेवल टेस्ट इन दो बड़े वैज्ञानिकों से अधिक माना जा रहा है ।

बच्चे की सफलता से माता-पिता हैं काफी खुश

जानकारी के लिए आप सभी को बता दें कि बच्चे के माता-पिता को उसके ज्ञान पर गर्व है अर्थात बच्चे के माता-पिता ने बताया कि जब हमें उसके रिजल्ट के बारे में पता चला तो हम घर पर उछलने कूदने लगे हमारी खुशी का ठिकाना नहीं था ।

उन्होंने यह भी बताया कि हमारे बच्चे की बीमारी के कारण उसकी आने वाली जीवन में काफी परेशानियां हो सकती है परंतु हम आशा करते हैं कि आगे जाकर उसका कॉन्फिडेंट और अधिक पड़ेगा अर्थात हुआ यह भी बता रहे थे कि इस देश में उसकी उम्र का कोई भी नहीं था सब उससे बड़े थे , परंतु फिर भी उनके बच्चे ने सभी से सबसे अधिक अंक हासिल किए इस दौरान

केविन स्वीने कि माता का कहना है कि वह हमेशा से जानती थी कि उनका बेटा जीनियस है और वह उसकी सफलता से काफी अधिक प्रसन्न है ।

 

लेखिका : अमरजीत कौर

यह भी पढ़ें :

एक डिलीवरी बॉय की कहानी जो एक झटके में बन गया करोड़पति ,‌ अब दो करोड़ की गाड़ी में घूमता है

Similar Posts

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *