नवम्बर 29, 2022

Motivational & Success Stories in Hindi- Best Real Life Inspirational Stories

Find the best motivational stories in hindi, inspirational story in hindi for success and more at hindifeeds.com

Saumya sharma UPSC success story in Hindi

Saumya sharma UPSC success story in Hindi

16 वर्ष की उम्र में खो दी थी सुनने की शक्ति, सिर्फ 4 महीने पढ़ाई और सौम्या शर्मा बन गई आईपीएस अफसर

जैसे की हम सभी जानते हैं कि भारत की UPSC Civil Service Exam को पास करना इतना आसान तो नहीं है। आम विद्यार्थियों के लिए इस परीक्षा को पास करना बहुत कठिन होता है ।

इसके साथ ही साथ इस परीक्षा को पास करने के लिए कड़ी मेहनत और लगन की काफी आवश्यकता होती है, पहली बार में इस परीक्षा को पास करना और अधिक कठिन कार्य होता है।

इसके साथ ही साथ यूपीएससी एग्जाम के दौरान विकलांग कैंडिडेट को एग्जाम को पास करना और अधिक कठिन होता है।

हमारी आज की कहानी एक ऐसी लड़की की है जिसने अपनी सुनने की क्षमता खोने के बावजूद केवल 4 महीनों में पढ़ाई करके एक बार में ही यूपीएससी की परीक्षा को पास किया है। आइए जानते हैं 2017 के बैच की आईपीएस ऑफिसर सौम्या शर्मा की पूरी कहानी।

16 वर्ष की आयु में अचानक  खो दी थी सुनने की क्षमता :-

वर्ष 2017 के बैच में आईपीएस ऑफिसर बनने वाली सौम्या शर्मा दिल्ली की रहने वाली है। 16 वर्ष की उम्र में सौम्या शर्मा ने अपनी सुनने की क्षमता को खो दिया था।

सौम्या शर्मा बताती है कि 16 वर्ष की उम्र में अचानक ही उनके सुनने की क्षमता चली गई, सौम्या बताती है कि कई डॉक्टर के पास हम गए पर हमें इसकी वजह नहीं पता चल पाई, सौम्या बताती है कि मैंने मेरे सुनने की 90 से 95% तक की क्षमता खो चुकी थी मैं सुनने के लिए पूरी तरह से aid machine पर निर्भर है।

सौम्या शर्मा कहते हैं कि भले ही मैंने अपनी सुनने की क्षमता खो दी परंतु यूपीएससी एग्जाम को पास करने के लिए मेरा संकल्प कभी भी कम नहीं हुआ।

मैं लगातार पढ़ाई करती रही और 2017 में यूपीएससी का एग्जाम दिया और एक बार में ही इसे पास कर लिया। सौम्या शर्मा ने अपनी सारी कमियों को अपने साथ लेकर चलते हुए हार नहीं मानी और 23 वर्ष की उम्र में बिना किसी कोचिंग के सिविल सर्विस परीक्षा को पास कर लिया।

सौम्या कहते हैं कि सिविल सर्विस परीक्षा को पास करना अन्य परीक्षाओं को पास करना ही जैसा है परंतु जैसे हर परीक्षा को पास करने के लिए अच्छी योजना और रणनीति की आवश्यकता होती है उसी प्रकार से सिविल सर्विस परीक्षा को पास करने के लिए भी अच्छी रणनीति बना कर मेहनत करना काफी आवश्यक है।

सौम्या शर्मा ने की है लॉ की पढ़ाई

जानकारी के लिए आप सभी को बता दें कि सौम्या शर्मा ने अपनी शुरुआती पढ़ाई दिल्ली से की है इसके बाद उन्होंने अपनी आगे की पढ़ाई नेशनल लॉ स्कूल से वकालत की पढ़ाई की थी।

सौम्या बताती है की वकालत की पढ़ाई करते हुए वकालत की पढ़ाई के अंतिम समय में उन्होंने यूपीएससी की परीक्षा देने का फैसला लिया था।

सौम्या शर्मा ने 2017 में यूपीएससी की परीक्षा देने का निश्चय किया था परंतु यूपीएससी की प्री परीक्षा के लिए 4 महीने का ही वक्त बचा था। इस दौरान सौम्या ने अपनी कड़ी मेहनत और लगन के साथ 4 महीने में ही अपनी पढ़ाई को अच्छे से पूरा किया और यूपीएससी परीक्षा को एक बार में ही पास कर लिया।

परीक्षा के दिन हो गया था तेज बुखार

सौम्या शर्मा बताती है कि मेरी सिर्फ 4 महीने की तैयारी के बाद में यूपीएससी की परीक्षा देने के लिए तैयार थी परंतु परीक्षा के दिन ही वह मुश्किल में पड़ गई और उन्हें काफी अधिक तेज बुखार हो गया।

इंटरव्यू के दौरान सौम्या ने बताया था कि अपने बुखार के कारण वह उठ भी नहीं पा रही थी। वह कहती है कि यही कारण था कि मैं रिवीजन भी नहीं कर पाई और 102 डिग्री बुखार होने के बावजूद में एग्जाम देने के लिए तैयार हो गई। बुखार की मेरी हालत को कुछ ठीक करने के लिए मुझे 4 ड्रिप दी गई थी।

परीक्षा के दौरान भी दी गई थी ड्रिप

सौम्या शर्मा कहती हैं कि परीक्षा के दिन मैंने जैसे-तैसे आधा एग्जाम तो दिया परंतु आधे एग्जाम के दौरान बुखार की वजह से मेरी हालत खराब होती जा रही थी।

वह कहती है कि लंच ब्रेक के दौरान उन्हें आईवी ड्रिप दी गई इसकी वजह से वह एग्जाम देते समय एकदम बेहोशी की हालत में थी और कई बार परीक्षा को देते समय आंखों के दरमियान अंधेरा छा रहा था।

सौम्या बताती है कि परीक्षा के दौरान उन्हें जिन मुश्किलों का सामना करना पड़ा परंतु उन्होंने हार नहीं मानी और उन मुश्किलों से लड़कर वे पूरे देश में यूपीएससी की एग्जाम में 9 वीं रैंक पर आएं और साल 2017 बैच की यूपीएससी अधिकारी बन गई।

यूपीएससी पास करने के लिए सौम्या शर्मा की सलाह

जैसे की हम सभी जानते हैं कि किसी भी परीक्षा को पास करने के लिए कड़ी मेहनत और लगन का होना काफी आवश्यक है।

अर्थात किसी भी परीक्षा को पास करने के लिए यह मायने नहीं रखता कि आप पूरी तरह से स्वस्थ है कि नहीं आप बोल सकते हैं या नहीं आप सुन सकते हैं या नहीं मायने रखता है तो केवल ज्ञान और कड़ी लगन, इसी का उदाहरण आज हमें सौम्या शर्मा ने दिया है।

सौम्या शर्मा ने अपने सुनने की शक्ति को खोने के बावजूद हिम्मत नहीं हारी और केवल 4 महीने में बिना कोचिंग यह पढ़ाई करके यूपीएससी की परीक्षा को केवल एक ही बार में पास करके दिखाया है।

यूपीएससी की परीक्षा की तैयारी को लेकर सौम्या शर्मा बताती हैं कि किसी भी परीक्षा को पास करने के लिए कड़ी मेहनत के साथ साथ स्मार्ट वर्क करना भी काफी आवश्यक है।

वह कहती हैं कि भले ही मैंने अपनी सुनने की शक्ति खो दी थी परंतु मैं किताबों के साथ ही साथ इंटरनेट से भी पढ़ाई करती थी इंटरनेट से में शार्ट नोट को तैयार करती थी और इससे पढ़ाई काफी अच्छी हो पाती थी।

सौम्या शर्मा अन्य विद्यार्थियों को यह सलाह देती है कि अगर आप ने यूपीएससी की परीक्षा को पास करना चाहते हैं तो पढ़ाई लिखाई के साथ ही साथ रिवीजन भी काफी अधिक करें,  इसके दौरान वह बताती हैं कि टॉपर्स के इंटरव्यूज को अधिक सुने क्योंकि इससे आपको अपनी तैयारी का आईडिया काफी अच्छे से लग जाएगा।

सौम्या कहती है कि अगर आप किसी भी चीज को प्राप्त करने की ठान लेते हैं तो ऐसी कोई चीज नहीं है जिसे आप हासिल ना कर पाए। सौम्या कहती है कि रास्ता कितना भी कठिन हो दृढ़ संकल्प के साथ चलने से सफलता और प्राप्त होती है।

सौम्या बताती है कि किसी भी तरह की सफलता को प्राप्त करने के लिए सबसे पहले खुद पर भरोसा रखें और दृढ़ प्रयास करें और सफलता आपको अवश्य मिलेगी।

लेखिका : अमरजीत कौर

यह भी पढ़ें :

पिता करते हैं मारुति फैक्ट्री में काम , यूपीएससी पास कर बेटी बनी आईपीएस ऑफिसर