नवम्बर 28, 2022

Motivational & Success Stories in Hindi- Best Real Life Inspirational Stories

Find the best motivational stories in hindi, inspirational story in hindi for success and more at hindifeeds.com

15 साल का यह लड़का लॉकडाउन में सीखा एलईडी लाइट बनाना और दिया 4 लोगों को रोजगार

कोरोना वायरस महामारी ने लाखों लोगों की जिंदगी कठिन बना दी है। लॉकडाउन में हजारों मजदूर अपने घर से दूर फंसे हुए थे। आमदनी का उनके पास आय का कोई भी जरिया नहीं था। नौकरी छूट गई थी।

जिंदगी मुश्किल हो गई थी। इसी दौरान एक 15 साल का लड़का अपना स्टार्टअप शुरू किया और लोगों की मदद करने का फैसला किया।

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर के रहने वाले अमर प्रजापति आज लोगों के लिए प्रेरणा बन गए हैं। वह फिलहाल अभी एक स्थानीय प्राइवेट स्कूल में नौवीं कक्षा में पढ़ाई करते हैं।

पिछले साल जब लॉकडाउन लगा तब उन्होंने जीवन प्रकाश इंडस्ट्रीज प्राइवेट लिमिटेड नाम से अपना एक स्टार्टअप शुरू किया। इस स्टार्टअप के तहत वह एलईडी बल्ब बनाने का बिजनेस शुरू किये।

बेरोजगार मजदूर बने थे प्रेरणा

अमर ने बताया कि कोरोनावायरस महामारी की वजह से मार्च 2020 में अचानक से लॉकडाउन लगा दिया गया। जिसकी वजह से हजारों मजदूर अपने घर से दूर फस गए थे।

ऐसे में सबसे ज्यादा परेशानी मजदूरों के सामने थी क्योंकि उनके पास न तो कमाई का जरिया था न ही रहने का ठिकाना। अमर कहते हैं तब उन्होंने कुछ लोगों की मदद करने का फैसला किया।

वह बताते हैं कि उन्हें इलेक्ट्रॉनिक से काफी लगाव है। इसे क्षेत्र में वह कुछ करना चाहते थे। उन्होंने देखा कि एलईडी बल्ब से जुड़ी कंपनियां अच्छा मुनाफा कमा रही है। तब अमर ने भी एलईडी बल्ब का बिजनेस शुरू करने का फैसला किया।

पिता से मिली मदद

अमर बताते हैं कि एलईडी बल्ब का बिजनेस शुरू करने के लिए उनके पिता रमेश प्रजापति से उन्हें काफी प्रेरणा और मदद मिली। उनके पिता गोरखपुर औद्योगिक विकास प्राधिकरण में कैशियर के पद पर नियुक्त हैं।

उन्होंने अपने बेटे को एलईडी बल्ब बनाने की ट्रेनिंग दिलाने में काफी मदद की। ट्रेनिंग दिलाने के बाद दिल्ली से उन्होंने रॉ मैटेरियल मंगवाया और सितंबर में कंपनी की शुरुआत की।

एलईडी बल्ब की खासियत

अमर ने एलइडी बल्ब बनाने का स्टार्ट अप शुरू कर दिया था। अपने स्टार्टअप के तहत वह 7 वाट से लेकर 20 तक की ट्यूबलाइट बना रहे हैं।

अमर बताते हैं कि उन्होंने एक ऐसी पर एलईडी बल्ब बनाई है जो बिजली के साथ-साथ बैटरी से भी 4 घंटे लगातार चल सकती है।

आज के समय में गांव में बिजली न रहने की समस्या आम बात है। इसी समस्या को ध्यान में रखते हुए अमर ने बैटरी वाली बल्ब बनाई है। इसमें एक सोलर पैनल लगा है जो बिजली न रहने पर सूरज की रोशनी से चार्ज हो जाता है।

अमर ने अपने इस बल्ब को लालटेन का आकार दिया है। इसकी बैटरी लाइट 6 घंटे होती है। इसकी कीमत बाजार में ₹230 तथा होलसेल में इसकी कीमत ₹210 है।

इस तरह चलाते हैं बिजनेस

अमर बताते हैं कि उनकी टीम में 4 लोग काम करते हैं, जिसमें से एक मैनेजर, दो कारीगर, एक मार्केटिंग का कार्यभार देखते हैं। साथ ही अमर स्थानीय दुकानदारों के साथ भी संपर्क बना लिए हैं जिन्हें वह अपनी बल्ब बेचते हैं।

अमर बताते हैं कि अब तक वह अपनी टीम के साथ मिलकर 5 लाख से भी अधिक बल्ब बना चुके हैं। वह अपने बाजार का विस्तार करते हुए लखनऊ, मउ, आजमगढ़, बस्ती, गोंडा जैसे जिलों में पहुंचा चुके हैं।

जल्द ही वह अन्य क्षेत्रो की बाजारों में भी अपनी पहुंच बनाना चाहते हैं और इस क्षेत्र में और बेहतर काम करना चाहते हैं।

यह भी पढ़ें :

एलोवेरा से मिली नई पहचान सरकारी नौकरी छोड़कर करने लगे बिजनेस