ADVERTISEMENT

आइए जानते हैं आईएएस टॉपर श्रुति शर्मा के बारे में बिना कोचिंग इस प्रकार हासिल की सफलता

UPSC topper Shruti Sharma success story in Hindi
ADVERTISEMENT

जैसे की हम सभी जानते हैं कि भारत द्वारा आयोजित की जाने वाली यूपीएससी की परीक्षा को सबसे कठिन परीक्षा में से एक माना जाता है , साथ ही साथ हर साल इस परीक्षा का आयोजन किया जाता है और हर साल सफलता की उम्मीद लिए लाखों-करोड़ों विद्यार्थी इस परीक्षा में हिस्सा लेते हैं ।

इस परीक्षा में सफलता हासिल करने वाले विद्यार्थी देश के कई विद्यार्थियों के लिए प्रेरणा स्रोत के रूप में उभर कर आते हैं , इस परीक्षा में पहले प्रयास में कुछ गिने-चुने अभयार्थी ही इस परीक्षा में सफलता हासिल कर पाते हैं, कुछ विद्यार्थी ऐसे भी होते हैं जो पहले प्रयास में असफलता हासिल होने के बाद सफलता हासिल करने की उम्मीद को छोड़ देते हैं साथ ही साथ कई विद्यार्थी ऐसे भी होते हैं जो लगातार असफलताओं से सफलता हासिल करने का प्रयत्न करते हैं ।

ADVERTISEMENT

इस कठिन परीक्षा में सफलता हासिल करने के लिए हर साल विद्यार्थी हिस्सा तो लेते ही हैं साथ ही साथ इस परीक्षा में सफलता हासिल करने के लिए विद्यार्थी कड़ी मेहनत और लगन के साथ कोचिंग तो कई किताबों अर्थात इंटरनेट का सहारा लेकर खुद को निपुण बनाते हैं ।

जैसे की हम सभी जानते हैं कि हाल ही में वर्ष 2021 में भारत द्वारा आयोजित की गई सिविल सेवा द्वारा यूपीएससी की परीक्षा का रिजल्ट आ गया है और इस रिजल्ट में पहले तीन स्थानों में लड़कियों ने अपना कब्जा बना लिया है हालांकि सबसे पहले स्थान पर दिल्ली के सेंट लॉरेंस और जेएनयू से पढ़ाई करने श्रुति शर्मा ने ऑल ओवर इंडिया में प्रथम स्थान हासिल किया है।

ADVERTISEMENT

यूपीएससी टॉपर श्रुति शर्मा से बातचीत के दौरान बताती है कि उन्हें अच्छी रिजल्ट का अनुमान तो था परंतु उन्होंने कभी नहीं सोचा था कि वह ऑल ओवर इंडिया में प्रथम रैंक हासिल कर पाएंगे साथ ही साथ श्रुति शर्मा कहती हैं कि वह उन सभी की शुक्रगुजार हैं जिन्होंने उन्हें सफलता हासिल करने के लिए प्रेरित किया ।

दिल्ली से पूरी की पढ़ाई

जानकारी के लिए आप सभी को बता दें कि श्रुति शर्मा का पूरा परिवार बिजनौर ,से है परंतु फिर भी श्रुति ने अपनी पूरी पढ़ाई दिल्ली से ही की है उन्होंने अपनी शुरुआती पढ़ाई सरदार पटेल विद्यालय से हासिल की इसके बाद उन्होंने दिल्ली यूनिवर्सिटी के सेंट स्टीफंस कॉलेज से हिस्ट्री ऑनर्स की डिग्री हासिल की और फिर जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी एम ए की पढ़ाई को पूरा किया इसके बाद उन्होंने सिविल सर्विस की ओर अपना रुख करके पूरी तैयारी करनी शुरू कर दी ।

श्रुति शर्मा बताती हैं कि उन्होंने सिविल सर्विस एग्जाम की तैयारी करने के लिए जामिया मिल्लिया इस्लामिया की रेजिडेंशल कोचिंग अकैडमी को चुना था , वह कहती हैं कि इस एकेडमी से मुझे पढ़ाई में काफी मदद मिली साथ ही साथ मेरे दोस्तों और मेरे माता पिता ने भी पूरा सपोर्ट किया इस दौरान ही मैं आज इस सफलता के मुकाम को हासिल कर पाई हूं।

दूसरे अटेम्प्ट में सफलता हासिल की

जानकारी के लिए आप सभी को बता दें कि श्रुति शर्मा ने अपने दूसरे प्रयास में ऑल ओवर इंडिया में पहला स्थान हासिल किया है उन्होंने अपने पहले प्रयास में असफलता हाथ लगी थी परंतु उन्होंने असफलता से सीख लेकर सफलता हासिल करने का निश्चय किया और इसके बाद ही वह अपने दूसरे प्रयास में पहले स्थान को हासिल कर पाई ।

ऑल ओवर इंडिया में टॉप करने वाली श्रुति शर्मा विद्यार्थियों के लिए प्रेरणा स्रोत के रूप में उभर कर आ रही है , जो अपने पहले प्रयास मैं असफलता हासिल होने पर हार मान लेते हैं और आगे नहीं बढ़ पाते हैं अन्यथा अगर आपको भी सफलता हासिल करनी है तो आप श्रुति शर्मा के जैसे अपने हौसले को बुलंद करके लगातार प्रयास करें सफलता आपको अवश्य मिलेगी ।

 

लेखिका : अमरजीत कौर

यह भी पढ़ें :

पिता आईएएस, बेटे ने हासिल की महज 22 साल में यूपीएससी जैसी कठिन परीक्षा में सफलता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *