नवम्बर 30, 2022

Motivational & Success Stories in Hindi- Best Real Life Inspirational Stories

Find the best motivational stories in hindi, inspirational story in hindi for success and more at hindifeeds.com

Yogesh Joshi rapid organic ki kahani

आइए जानते हैं एक ऐसे किसान के बारे में जो 11 साल में बन गया करोड़पति, इस किसान के 60 करोड़ के टर्नओवर वाले फार्म से जुड़े हैं 3000 से भी अधिक लोग

कामयाबी को हासिल करने का कोई भी शॉर्टकट नहीं होता है, कामयाबी एक ऐसा मुकाम है जिसे हासिल करने के लिए मेहनत और लगन साथ ही साथ जिंदगी के एक टर्निंग प्वाइंट का इंतजार करना होता है , कुछ इसी प्रकार का उदाहरण पेश करते हैं राजस्थान के जालोर जिले के रहने वाले योगेश जोशी ।

जानकारी के लिए आप सभी को बता दें कि योगेश जोशी ने वर्ष 2009 में ऑर्गेनिक फार्मिंग में डिप्लोमा किया था, परंतु योगेश जोशी के घरवाले चाहते थे कि वह सरकारी नौकरी करें , परंतु योगेश एक किसान बनना चाहते थे इस दौरान योगेश के परिजनों ने उन्हें ताने मारे नाराज रहे परंतु सिर्फ योगेश अपने काम में लगे रहे हैं।

इसके 11 साल बाद योगेश जोशी अपने गांव में एक आदर्श युवा के रूप में सामने आए जानकारी के लिए आप सभी को बता दें कि योगेश और उन्होंने अपने साथ अपने 4000 एकड़ भूमि में रखे 3000 किसानों के साथ मिलकर जीरा सौंफ मेथी धनिया और कलौंजी की खेती करते हैं और इस खेती से काफी अधिक मालामाल हो रहे हैं ।

जिससे वह अपने क्षेत्र में एक सफल और आदर्श युवक की पेशकश दे रहे हैं, जानकारी के लिए आप सभी को बता दें कि योगेश जोशी अपनी फार्म से सालाना 60 करोड का टर्नओवर कमाते हैं और इतना ही नहीं इनके फार्म से 50 से अधिक लोग इनके साथ जुड़कर काम कर रहे हैं ।

बातचीत के दौरान योगेश जोशी बताते हैं कि उनके परिजन चाहते थे कि वह एग्रीकल्चर डिपार्टमेंट में आगे बढ़े परंतु योगेश एक किसान के रूप में खेती करना चाहते थे और यही कारण बस योगेश ने डिप्लोमा की पढ़ाई को पूरा करने के बाद मसाले की फसलों को खेती के लिए चुना।

योगेश बताते हैं कि उन्हें पता था कि जीरे की फसल नगदी बिकती है और इसके बाद भी काफी बंपर होती है , और बाजारों में इसकी डिमांड भी काफी अधिक है इसी कारण व योगेश ने अपने 2 एकड़ भूमि पर जीरे की खेती करना शुरू कर दिया।

इस दौरान योगेश बताते हैं कि उनका पहला प्रयास असफल रहा उन्होंने अपने साथ-साथ किसानों को भी जोड़ा था और सभी किसानों को लगता था कि बिना केमिकल, और यूरिया एवं पेस्टिसाइड्स के बिना फसल का उत्पादन नहीं बढ़ाया जा सकता इस दौरान योगेश जोशी ने कजरी कृषि वैज्ञानिकों के साथ संपर्क किया और कृषि वैज्ञानिक ने खुद उनके गांव सांचोर में आकर उन्हें इसकी ट्रेनिंग दी ।

जानकारी के लिए आप सभी को बता दें कि योगेश ने जब 2009 में अपने डिप्लोमा की पढ़ाई पूरी करने के बाद जीरे की खेती शुरू की थी उस समय उनका सालाना टर्न ओवर 10 लाख था परंतु आज उनका फार्म रैपिड ऑर्गेनिक प्रालि ( Rapid Organic Pvt. Ltd. ) का सालाना टर्नओवर 60 करोड़ का होता है इनके साथ 3000 से अधिक किसान जुड़े हैं जो 4000 एकड़ की भूमि पर खेती कर रहे हैं ।

35 वर्षीय सफल किसान योगेश जोशी बताते हैं कि वह अपनी फसलों की मार्केटिंग के लिए ऑनलाइन मार्केट के द्वारा भी व्यापार करते हैं साथ ही साथ उनके साथ कई देशी और विदेशी कंपनियां संपर्क में है योगेश जोशी बताते हैं कि हाल ही में उन्होंने हैदराबाद की एक कंपनी के साथ 400 टन किनोवा की कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग की है ।

योगेश की फार्म के बारे में सुनकर एक जापानी कंपनी योगेश के गांव पहुंची थी इस दौरान उन्होंने योगेश की खेती की तरीके और उनके फसलों को देख कर काफी अधिक पसंद किया गया है और आज योगेश की फसलें अमेरिका में भी निर्यात होती है।

सफल किसान योगेश ना केवल खुद आगे बढ़ रहे हैं बल्कि अपने साथ-साथ कई किसानों को साथ लिए चल रहे हैं 11 साल से आज तक योगेश के साथ 1,000 से अधिक किसान ऑर्गेनिक सर्टिफाइड हो चुके हैं ।

योगेश बताते हैं कि जो किसान ऑर्गेनिक सर्टिफाइड नहीं होते हैं उन्हें अपनी फसलों को बेचने में काफी दिक्कत आती है इस दौरान उनकी फसलें हम खुद खरीद कर उनकी परेशानी का हल कर देते हैं और उन्हें उनकी की फसल की अच्छी कीमत भी देते हैं । आज यह किसान ना केवल खुद सफल हो रहा है साथ ही साथ कई किसानों को लेकर सफलता की ओर आगे बढ़ रहा है ।

 

लेखिका : अमरजीत कौर

यह भी पढ़ें :

आइए जानते हैं खेती की नई तकनीक से किस प्रकार किसान कमा रहा है अधिक मुनाफा, कम समय में पकती है इनकी फसल होता है दुगना मुनाफा