नवम्बर 28, 2022

Motivational & Success Stories in Hindi- Best Real Life Inspirational Stories

Find the best motivational stories in hindi, inspirational story in hindi for success and more at hindifeeds.com

9 महीने में 48 किलो वजन कम करने वाले ASI विभव तिवारी की कहानी

9 महीने में 48 किलो वजन कम करने वाले ASI विभव तिवारी की कहानी

9 महीने में 48 किलो वजन कम करने वाले ASI विभव तिवारी की प्रेरणादायक कहानी

मोटापा ही ज्यादातर बीमारियों की असल वजह मानी जाती है। इससे हाई ब्लड प्रेशर डायबिटीज दिल से बीमारी होने का खतरा रहता है। आज की युवा में पीढ़ी मोटापे की समस्या तेजी से बढ़ रही है।

मोटापा रोजमर्रा के काम में बाधा बनने लगता है। मोटापा एक चुनौती तब बन जाता है जब वजन ज्यादा बढ़ जाता है। वजन कम करना आसान काम आज भी नही है। लेकिन अगर इंसान ठान ले तो कुछ भी असंभव नही होता है।

कुछ ऐसा ही कर दिखाया है छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले में तैनात एएसआई विभव तिवारी ने। जो आज लोगों के लिए मिसाल बन गये है।

ASI Vibhav Tiwari का कहना है कि एक पुलिस वाले की जीवन में सेहत बहुत महत्वपूर्ण है। अगर वह फिट नहीं होता तब आपने सभी कर्तव्य को सही ढंग से पूरा नही कर पाता। फिर काफी असहज महसूस होता है।

Vibhav Tiwari ने महज 9 महीने मे कड़ी मेहनत और अपनी दृढ़ इच्छाशक्ति के दम पर अपना वजन 150 किलो से 102 किलो करने में कामयाब रहे।

वह कहते हैं इस उम्र में लोग कहते हैं कि कुछ भी नया करना संभव नहीं है। उस उम्र में उन्होंने यह बदलाव करके लोगों के बीच एक सफल चेहरा बनकर उभरे हैं। मोटे लोगों को मोटापा कम कर के के लिए प्रेरित कर रहे हैं।

मोटापा कम करना चुनौती बन गया था :-

आज से करीब 9 महीने पहले Vibhav Tiwari का वजन 150 किलोग्राम था। इतना ज्यादा वजन होने की वजह से उन्हें कई तरह की मुश्किलों का सामना करना पड़ता था। उनका प्रमुख काम ट्रैफिक व्यवस्था की निगरानी करना और उसे संभालना था।

कई बार जब उन्हें कोरबा जिले के चौक चौराहे पर काम करना पड़ता था तो वह थक जाते थे। बिना गाड़ी एक जगह से दूसरी जगह जाने में उन्हें काफी असहज महसूस होता था और काफी वक्त भी खराब होता था। वह दिन भर के काम से थक जाते थे।

लेकिन इसके बावजूद अपने काम कर रहे थे। वह बताते हैं 28 साल पहले जब उन्होंने पुलिस की नौकरी ज्वाइन की थी। तब उनका वजन 60 किलो के आसपास था।

लेकिन समय के साथ उनका वजन तेजी से बढ़ा और इससे उनकी तकलीफ से बढ़ने लगी। यहां तक कि उन्हें आसानी से चलने फिरने में भी परेशानी होने लगी।

9 महीने में कम किया 48 किलो वजन :-

ASI  Vibhav Tiwari कई बार अपने वजन को कम करने करने की कोशिश करते थे। लेकिन कामयाब नहीं हो पाते थे।

ड्यूटी के दौरान उनके साथ के सीनियर ऑफिसर उन्हें कहने लगे थे कि अगर वजन काम नही किया तो शारीरिक परेशानियों के साथ मानसिक तनाव भी बढ़ जाएंगे।

लॉकडाउन के दौरान विभव ने ठान लिया कि वह हर हाल में स्वस्थ जीवन शैली को अपनाएंगे और अपने वजन को कम करेगे।

खानपान पर किया नियंत्रण :-

Vibhav Tiwari अपने वजन को कम करने के लिए सबसे पहले अपने खानपान को पूरी तरीके से नियंत्रित किये। 9 महीने के दौरान उन्होंने कभी होटल में खाना नहीं खाया।

मिठाई और मैदे से बनी सभी चीज को खाना बंद कर दिया। बस घर पर बना खाना खाते थे। शुरू में यह बहुत मुश्किल लगता था। लेकिन वह खुद को रोज प्रेरित करते थे।

खुद को समझाते हुए कहते थे कि यदि अभी यह त्याग कर लिया तो कल मेरा स्वास्थ्य बेहतर रहेगा।खाने पर नियंत्रण के साथ ही वह व्यायाम करना भी शुरू कर दिए।

परिणाम की चिंता किए बगैर बार रोज-रोज मेहनत करना शुरू कर दिए थे। वह बताते हैं कि आज उनका वजन 102 किलोग्राम हो गया है।

कमर जो पहले 54 इंची थी घटकर 42 इंच हो गई है। वह आज भी अपने खान-पान पर नियंत्रण रख रहे हैं और व्यायाम कर रहे हैं।

हार नहीं मानी :-

ASI Vibhav Tiwari बताते हैं कि शुरुआती दिनों में वजन कम करना उनके लिए काफी चुनौतीपूर्ण था।

उन्होंने बहुत मेहनत की लेकिन परिणाम नजर नही आ रहा था। कम खाना नियमित चलने की जीवनशैली भी लगभग पूरी तरह से बदल गई थी।

इसके बावजूद वजन घट नही रहा था। वह रोज शाम को थका हुआ महसूस करते थे। लेकिन उनमें उदासी और नकारात्मक कभी भी नही आई।

जब काम असंभव लगा तब वह अपनी मेहनत को दुगना कर दिए। वह हर दिन खुद को समझाते और अभ्यास करते।

पूरी मेहनत के साथ लगे रहे। वह कुछ भी करने के लिए तैयार थे। शुरुआती दिनों में उन्हें काफी तकलीफ हुई। लेकिन अंत में उन्हें कामयाबी मिल गई।

वह बताते हैं किसी भी बदलाव के लिए कुछ नया करने के लिए शुरुआती तकलीफ हो हो सकती है। लेकिन कभी भी उदास होकर डरना नही चाहिए। बल्कि लगे रहना चाहिए, कामयाबी एक न एक दिन मिलती है।