नवम्बर 28, 2022

Motivational & Success Stories in Hindi- Best Real Life Inspirational Stories

Find the best motivational stories in hindi, inspirational story in hindi for success and more at hindifeeds.com

Yogesh Kabra XYXX Apparel

आइए जानते हैं सूरत के एक आंत्रप्रेन्योर की कहानी जिसने कपड़े का ब्रांड खोलने के लिए छोड़ दी अमेरिका की नौकरी 

करोना महामारी के दौरान लोगों के पास बाहर जाकर शॉपिंग करने का कोई भी विकल्प नहीं था और इस वक्त सबसे अधिक इनरवेयर की ऑनलाइन शॉपिंग हो रही थी, और इसका सबसे अधिक प्रभाव भारत के इनरवेयर ब्रांडों पर पड़ा जहां इनकी लाभ  दर 18 से 20% बढ़ गई थी।

भारतीयों के पास अधिक आय होने के कारण भारत में एथलीजर वियर मार्केट साल दर साल बढ़ती ही जा रही है। जानकारी के लिए आपको बता दें कि भारत में पुरुषों की इनरवियर का बाजार 2015 में 85 अरब रुपए की तुलना में 2020 में इसकी दर बढ़कर 165 अरब रुपए हो गई थी।

इसी प्रकार ही बढ़ते ट्रेंड को देखते हुए सूरत के रहने वाले आंत्रप्रेन्योर योगेश काबरा  2017 में अपने मूल स्थान सूरत में  XYXX Apparels शुरू किया था।

और आज योगेश काबरा का यह स्टार्टअप हर महीने अपने उत्पाद की तीन लाख यूनिट को बेचता है। योगेश काबरा ने वर्ष 2022 के अंत में अपने उत्पाद का छह से सात लाख यूनिट को बेचने की उम्मीद जताई है।

अमेरिका से भारत मैं उन्नति का सफर

योगेश काबार ने हल्ट इंटरनेशनल बिजनेस स्कूल से अपनी एमबीए की शिक्षा पूरी की थी और अमेरिका में एक अच्छी नौकरी भी कर रहे थे।

परंतु योगेश कहते हैं कि बोस्टन से काम करते हुए उन्होंने यह महसूस किया कि वह शुरू से ही खुद का कुछ काम शुरू करना चाहते थे। हालांकि योगेश ने इसके लिए सबसे पहले यह सुनिश्चित किया कि उनके ऊपर किसी भी प्रकार की वित्तीय जिम्मेदारी ना रहे।

योगेश कहते हैं कि “अगर मैं लंबे समय तक अपनी नौकरी करता तो मैं अपने परिवार के लिए एक घर खरीदा और आमतौर पर सभी लोग ऐसा करने के लिए लोन का सहारा लेते हैं, परंतु अगर हम एक बार किस्त चुकाने के जंजाल में फंस जाते हैं तो किसी भी नए व्यवसाय को शुरू करने का ख्याल मन में आना और उसे पूरा करना काफी कठिन हो जाता है।

योगेश काबरा कहते हैं कि यही कारण था कि मैं नया व्यवसाय शुरू करने की इच्छा रखता था इसलिए मैं अपनी नौकरी को छोड़ कर अपने गृह नगर सूरत में वापस लौट आया।

और अपने पिता के कपड़े के कारोबार में उनकी मदद करने लगा। पिता के कारोबार में काम करते करते योगेश ने यह महसूस किया कि वह भले ही कपड़े का कारोबार करना चाहते हैं परंतु वह खुद का एक ब्रांड तैयार करना चाहते हैं।

इस प्रकार गैप को ढूंढा

योगेश कहते हैं कि सूरत में पुरुषों की अंडरगारमेंट्स को बेचने के बावजूद भी उन्हें मैं अच्छे ब्रांड नहीं मिल पा रहे थे जिसमें क्वालिटी और प्रोडक्ट दोनों ही काफी अच्छे हो।

योगेश बताते हैं कि “इस दौरान मुझे दो ब्रांड मिले, परंतु दोनों ब्रांड के कपड़ों की सिलाई और मटेरियल एकदम एक जैसा था; केवल ब्रांड के नाम अलग-अलग थे।

योगेश कहते हैं कि इस दौरान ही मुझे यह बात सोचने पर मजबूर कर दिया कि भारत में कोई ऐसा नया ब्रांड क्यों नहीं है जो क्वालिटी और मटेरियल में अन्य ब्रांडों से अलग हो।

योगेश ने लगभग 6 महीने तक मार्केट में रिसर्च की एवं रिसर्च और तैयारी के दौरान उन्होंने मार्केट 50 लाख रुपए निवेश किए। और इस दौरान ही उन्होंने वर्ष 2017 में XYXX अपैरल्स की स्थापना की थी।

और योगेश द्वारा खोला गया यह स्टार्टअप पुरुषों के अंडरगारमेंट्स के साथ साथ बॉक्सर, ब्रीफ, ट्रंक और बुना हुआ पजामा को बाजार में बेचता है।

योगेश से अपने स्टार्टअप में सभी प्रीमियम सेगमेंट के दाम 199 से 399 की लागत तक ही रखे थे। वर्तमान में इनके उत्पाद 250 रुपए से उच्चतम 350 रुपए में बिकते हैं

वर्तमान में इनका XYXX अपैरल्स ब्रांड महीने में अपने उत्पाद का तीन लाख यूनिट  बाजार में बेच देता है। योगेश से वर्ष 2022 में छे से सात लाख यूनिट को बेचने का प्रयास करने का सोचा है।

योगेश बताते हैं कि वह अपने ब्रांड XYXX अपैरल्स में माइक्रो मोडल फैब्रिक का इस्तेमाल करते हैं, इस दौरान योगेश कहते हैं कि माइक्रो फैब्रिक ऑस्ट्रेलिया के लुगदी बीचवुड के पेड़ों से निकाला जाता है।

यह फैब्रिक स्वभाविक रूप से गर्म और नरम है और भारतीय मौसम के लिए सबसे आरामदायक प्राकृतिक कपड़ा भी माना जाता है। योगेश ने दावा किया है कि उनका यह उत्पाद भारतीय परिवेश में उपयोग में लाने के लिए बहुत ही नरम और आरामदायक होता है।

इस प्रकार करते हैं गुणवत्ता को सुनिश्चित

XYXX अपैरल्स हर साल औसतन 36 लाख  यूनिट का उत्पादन करता है, और वर्तमान में ऑनलाइन इनके उत्पादों की बिक्री आसानी से 50% हो जाती है।

इन्होंने अपने उत्पादों को ऑनलाइन बेचने के लिए खुद की एक वेबसाइट भी तैयार की है और इसके साथ ही साथ अन्य माल आम कपड़ों की दुकानों और स्टोरों में निर्यात किया जाता।

योगेश का स्टार्टअप दुगनी वृद्धि करने के साथ ही साथ बिक्री के मामलों में भी काफी अधिक बढ़ गया है और अब उन्होंने मुंबई में अपना एक दफ्तर भी स्थापित किया है।

यह है बाजार और भविष्य की योजनाएं

योगेश द्वारा तैयार किए गए यह स्टार्टअप में वर्तमान में 250 लोगों की एक टीम है जो अप्रैल 2020 में बढ़कर 70 फ़ीसदी अधिक हो जाएगी।

योगेश के स्टार्टअप की बढ़ती वृद्धि के कारण इन्वेस्टर ने इनके स्टार्टअप में इन्वेस्ट करने में दिलचस्पी दिखाई है जिनमें से कुछ सीड स्टेज निवेशक ने योगेश की XYXX अपैरल्स कंपनी में सबसे पहला निवेश करके इस कंपनी को बड़ा चेक दिया था।

एवं 2019 में फार्म में स्थित एक कंपनी प्री-सीरीज ए ने XYXX अपैरल्स कंपनी में 7 करोड रुपए का निवेश किया था। एवं वर्ष 2020 में डीएसजी कंज्यूमर पार्टनर ने सीरीज ए राउंड में 30 करोड़ का नेतृत्व किया था।

फिलहाल योगेश भविष्य में अपने स्टार्टअप को और बढ़ाने के बारे में सोच रहे हैं और इसके साथ ही साथ अन्य इनरवेयर ब्रांड जैसे जॉकी ,वेन से कंपटीशन की दौड़ में लगे हुए हैं। परंतु आज वह अपने इस स्टार्टअप से काफी अधिक मुनाफा कमा ले रहे हैं।

लेखिका : अमरजीत कौर

यह भी पढ़ें :

प्रमोद बनाते है कबाड़ से खूबसूरत फर्नीचर, खड़ी कर ली है,बड़ी कंपनी और कमा रहे हैं लाखों